आम्बापाड़ा बैराज से बहार के किसान ले रहे हैं पानी , किसानों की भूमि को पहुचा रहे हैं नुकसान – पीठडी – आम्बापाड़ा के किसानों ने की शिकायत –

आम्बापाड़ा बैराज से बहार के किसान ले रहे हैं पानी , किसानों की भूमि को पहुचा रहे हैं नुकसान –
पीठडी – आम्बापाड़ा के किसानों ने की शिकायत –

न्यूज़@- सुनील खोड़े –
पेटलावद (झाबुआ) – – आज पेटलावद कि क्षेत्र ग्राम आम्बापाड़ा ओर पीठड़ी के किसानों ने अनुविभागीय अधिकारी के नाम एक शिकायत पत्र तहसीलदार जितेंद्र अलावा को सोपते हुवे बताया बताया कि ग्राम आम्बापाङा में बड़े तालाब जिसे आम्बापाड़ा बैराज भी कहा जाता है उक्त तालाब में गांव के किसानों की भूमि जमीन डूब गई जिससे लाभ यहाँ के किसानों को मिलना था लेकिन ग्राम सेमरोड रहवासी जिनके खेत तालाब से बहोत ज्यादा दूर ओर तालाब के कमांड क्षेत्र में भी नही आते बिना सक्षम अधिकारी से बिना अनुमति लिए हमारे खेतो से बलपूर्वक खुदाई का कार्य करते थे और हमारी खेती को नुकसान पहुचा जा रहा है और जब इनको रोका गया तो जान से मारने की धमकी दी जा रही है । किसानों का आरोप है बहारी किसान तालाब से पानी लेने ओर पाइप लाइन के खेत को नुकसानी ऐसे ही पहुचाते रहे तो हमको आंदोलन पर मजबूर होना पड़ेगा , मामले में जल संसाधन विभाग के एसडीओ का कहना है कि किसानों की शिकायत मिली हैं। लेकिन हमने केवल कमांड क्षेत्र किसानों को तालाब से पानी उठाने की अनुमति दी है पाइप लाइन बिछाने की नही दी यदि किसानो की निजी भूमि से लाइन जा रही है तो किसान उनको रोक सकते हैं या लाइन ले जाने की अनुमति दे सकते हैं।
गौरतलब है कि पूर्व में भी तालाब को लेकर विवाद हो चुके हैं यदि समय रहते जिम्मेदार प्रशासन ने इस पर रोक नहीं लगाई तो कोई बड़ी विवाद जैसी स्थिति निर्मित हो सकती है