राष्ट्र निर्माताओं के सुरक्षा के लिए केंद्र जारी करे राज्यों को एडवाइज़री

राष्ट्र निर्माताओं के सुरक्षा के लिए केंद्र जारी करे राज्यों को एडवाइज़री

वाराणसी। औरैया में सड़क दुर्घटना में हुई 24 मजदूरों की मौत से एकबार फिर पूरा देश शोकमग्न हो गया है। जहां कोरोना महामारी से बचने के लिए लाकडाउन करके करोङों लोगों की जान बचाने का प्रयास केंद्र व राज्य सरकारें कर रही हैं वहीं थोक के भाव मे मजदूरों की जान जाने की खबर देश के कई राज्यों से आ रही हैं। इसपर विश्व हिन्दू सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने मजदूरों को राष्ट्र निर्माता की संज्ञा देते हुए अपनी प्रतिक्रिया दी और कहा कि केंद्र सरकार को एडवाइज़री जारी करने का सुझाव दिया है। पाठक ने कहा कि राजा प्रजा के लिए पिता समान होता है ऐसे में एक राजा यानी एक पिता को अपने प्रजा की पुत्रवत देखभाल करना जिम्मेदारी होती है।

अरुण पाठक, अध्यक्ष विश्व हिन्दू सेना

विशाखापत्तनम की घटना हो या पिछले दिनों ट्रेन से कटकर मजदूरों के मौत का मामला हो या आज औरैया और सागर की सड़क दुर्घटना, सरकार की जिम्मेदारी है जिससे मुंह नहीं मोड़ा जा सकता है। एकतरफ कोरोना संक्रमण से जानें बचाई जा रही हैं तो दूसरी तरफ दुर्घटनाओं से जानें जा रही हैं। ऐसे में सरकार को एक नियम बनाना होगा। इस नियम में सभी राज्य सरकारों को यह निर्देश होगा कि प्रत्येक राज्य अपने राज्य में उपस्थित मजदूरों को भोजन से लेकर उनके अपने गंतव्य तक पहुंचाने की व्यवस्था जिम्मेदारी व सुचारू रूप से निश्चित करें ताकि आज की हृदय विदारक दुर्घटना की पुनरावृत्ति न हो सके। इसके साथ ही केंद्र सरकार यह भी सुनिश्चित करे कि इस एडवाइज़री का राज्य सरकारें कड़ाई से पालन करें। इसके बाद अरुण पाठक ने मृतक मजदूरों की आत्मा की शांति के लिए मौन रख उन्हें श्रद्धांजलि भी दी।