आनंद मार्ग के स्वयंसेवक रोजाना 1200 लोगों को करा रहे दिव्य भोजन

आनंद मार्ग के स्वयंसेवक रोजाना लगभग 1200 लोगों को भोजन में खीर, पूड़ी सब्जी , सलाद एवं खिचड़ी का वितरण कर रहे हैं

सन्यास जीवन पीड़ित मानवता की सेवा और ईश्वर की साधना करने के लिए ही है। मानव सेवा ही माधव सेवा है ऐसा विचार आनंद मार्ग यूनिवर्सल रिलीफ टीम के केंद्रीय कोऑर्डिनेटर आचार्य सत्याश्रयानन्द अवधूत ने कोरोना रिलीफ ऑपरेशन के 47 वे दिन मंगलवार को हेहल स्थित आनंद मार्ग गुरु निवास के बाहर भोजन वितरण के दौरान व्यक्त किया।


उन्होंने बताया कि 47 दिनों में लगभग 29 हजार जरूरतमंदों को आनंद मार्ग यूनिवर्सल रिलीफ टीम के सदस्यों ने हेहल स्थित गुरु निवास पर दिव्य भोजन कराया।
आचार्य ने बताया कि आनंद मार्ग द्वारा चलाए जा रहे जरूरतमंदों की भोजन व्यवस्था में आनन्द मार्ग के अनुयायी, सम्पैथाइजर्स, पान्डरा मंडी के समाजसेवी गण और फुटकर सब्जी विक्रेताओं का प्रशंसनीय सहयोग मिल रहा है ।

बुधवार को भी लगभग 1200 लोगों को भोजन में खीर, पूडी- सब्जी , सलाद एवं खिचड़ी का वितरण किया गया ।
देश के विभिन्न प्रांतों में 170 से भी अधिक अमर्ट शाखा के लोग इस 47 दिनों में लगभग 24 लाख लोगों को भोजन करा चुके हैं।

रिपोर्ट : काशीनाथ शुक्ल