पूरे देश मे प्रतिबंधित हो लाउडस्पीकर से अजान- अरुण पाठक

पूरे देश मे प्रतिबंधित हो लाउडस्पीकर से अजान

वाराणसी। मशहूर गीतकार जावेद अख्तर के बयान के बाद अलीगढ़ विश्वविद्यालय के कई प्रोफेसरों ने पांचों वक्त के अजान के वक्त लाउडस्पीकर को जायज ठहराते हुए जरूरी बताया है और साथ मे जावेद अख्तर को इस मामले में दखल न देने की हिदायत भी दी है। वहीं दूसरी तरफ हैदराबाद में aimim के मुखिया ओवैसी ने लाउडस्पीकर विवाद को आगे बढ़ाते हुए पोस्टर वार शुरू कर दिया है जिसमे लिखा है join aimim, feel the power।

अरुण पाठक, अध्यक्ष विश्व हिन्दू सेना

मस्जिदों से लाउडस्पीकर बन्द कराने के लिए अभियान चलाएगी विहिसे

इसके बाद से धर्म नगरी वाराणसी में भी प्रतिक्रियाएं आने लगी हैं। विश्व हिन्दू सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा है कि जिनको लाउडस्पीकर से ही अजान सुनाई देता है वो पाकिस्तान चले जाएं। जब मंदिरों से लाउडस्पीकर हटाया जा सकता है तो मस्जिद से क्यों नहीं। अरुण पाठक ने कहा कि यूपी सरकार ने जनवरी 2018 में लाउडस्पीकर हटाने को लेकर एडवाइजरी जारी की थी लेकिन खुद के आदेशों का पालन अबतक न करा सकी योगी सरकार ये ताज्जुब की बात है। आलम ये है कि एक ही मोहल्ले से 4-4 अजान की आवाजें एक साथ आती है। कहीं कहीं एक खत्म होता है तो दूसरा शुरू होता है ऐसे यह आम जनता के ऊपर अत्याचार है। जिसे सरकार को तत्काल प्रभाव से खत्म करना पड़ेगा अन्यथा विश्व हिन्दू सेना इसे अभियान बनाकर बन्द कराने का माद्दा रखती है। अब जब यह मामला फिर से उठा है तो योगी व मोदी सरकार को इसे संज्ञान में लेते हुए उत्तर प्रदेश बल्कि पूरे देश मे लाउडस्पीकर पर पूर्णतः प्रतिबंध लगाकर कड़ाई से पालन कराया जाय।

ओवैसी से संविधान मनवाना हमें आता है- अरुण पाठक

अरुण पाठक ने दूसरी तरफ ओवैसी द्वारा जारी किए गए पोस्टर पर पलटवार करते हुए कहा है कि हिंदुस्तान में रहकर शरीयत के कानून का पालन करना गलत है। अगर वो संविधान नहीं मानते तो उन्हें संविधान मनवाना हम जानते हैं। दूसरी बात अगर उन्हें पावर फील करना है तो विश्व हिन्दू सेना सक्षम है।

रिपोर्ट : दिनेश मिश्र