मृत कोरोना योद्धाओं को मिले सेना का सर्वश्रेष्ठ सम्मान- अरुण पाठक

मृत कोरोना योद्धाओं को मिले सेना का सर्वश्रेष्ठ सम्मान- अरुण पाठक

वाराणसी। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए विश्व हिन्दू सेना के कोर कमिटी की बैठक में महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा की गई। ट्रेन से कटकर मारे गए मजदूरों, विशाखापट्टनम में गैस रिसाव से मारे गए लोग व कोरोना के चपेट में आकर मारे गए आमजन व मृतक कोरोना योद्धाओं की आत्मा की शांति के लिए शोकसंवेदना व्यक्त कर 2 मिनट का मौन रखा गया। इसके बाद यह निश्चय किया गया कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद सभी ज्ञात अज्ञात मृतकों का सामूहिक पिंडदान विश्व हिन्दू सेना करेगी।

मृत कोरोना वारियर्स के परिजन को मिले नौकरी

राष्ट्रीय अध्यक्ष अरुण पाठक ने बैठक के उपरांत कहा कि इस महामारी में जो अपना घरबार त्याग कर अपने फर्ज की अदायगी कर रहा है वो किसी युद्ध मे योद्धा की तरह काम कर रहा है। सरकार के लोगों का भी मानना है कि डॉक्टर्स, पुलिसकर्मी, पत्रकार व सफाईकर्मी किसी योद्धा से कम नहीं हैं और अपने जान की बाजी लगाकर अपना काम कर रहे हैं ताकि आम जनता मौत के चंगुल से बची रहे। ऐसे में विहिसे द्वारा सरकार से मृतक कोरोना वारियर्स को सेना का सर्वश्रेष्ठ सम्मान दिलाने की अपील की गई है और यह भी मांग की गई है कि उनके परिवार को सम्मानजनक मुआवजा व एक व्यक्ति को तत्काल नौकरी दी जाय। ताकि भविष्य में भी किसी आपदा से लड़ने में ये योद्धा दोगुनी मानसिक व शारीरिक ताकत के साथ परिस्थिति का सामना कर सकें।

बैंकर्स को भी मिले कोरोना योद्धाओं सा सम्मान

पाठक ने कहा कि अगर बैंक कर्मी को कोरोना योद्धा की मान्यता नहीं है तो उन्हें भी मान्यता देकर सम्मानित किया जाय। माननीय प्रधानमंत्री जी ने कहा था कि जिसके पास राशन कार्ड है अथवा नहीं सभी के पर राहत सामग्री पहुंचाई जाय लेकिन जरूरतमंदों तक राहत सामग्री नहीं पहुंच पा रही अतः इसपर गंभीरता से ध्यान देते हुए एक एक परिवार को चिन्हित कर राहत खाद्य सामग्री पहुंचाई जाय।

राष्ट्रीय प्रवक्ता काशीनाथ शुक्ल ने कहा कि बैठक में सभी सदस्यों द्वारा तय किये गए महत्वपूर्ण विचारों को जल्द से जल्द क्रियान्वित किया जाएगा। बैठक में , महासचिव बिपिन ओझा, राष्ट्रीय प्रवक्ता काशीनाथ शुक्ल व मीडिया प्रभारी कमलेश दुबे संयुक्त सचिव विजेश्वर राय,उर्फ टप्पू सिंह ने अपने विचार व्यक्त किये।

रिपोर्ट : दिनेश मिश्र