महामारी में दलितों की मसीहा मायावती ने दलितों के लिए क्या किया?- अरुण पाठक

महामारी में दलितों की मसीहा मायावती ने दलितों के लिए क्या किया ? -अरुण पाठक

वाराणसी। हिन्दूवादी सन्गठन विश्व हिन्दू सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष अरुण पाठक ने बसपा सुप्रीमो मायावती का अपने सवालों से घेराव किया है। महामारी के इस संकट में जहां देश की जनता, फिल्मस्टार, व्यवसायी, समाज सेवी संगठन व राजनैतिक दलों के नेता अपने सामर्थ्य के अनुसार गरीबों के लिए मदद कर रहे हैं । वहीं बहन कुमारी मायावती जो खुद को गरीबों व दलितों का मसीहा बताती हैं उसपर सवाल उठाते हुए अरुण पाठक ने कहा है कि मायावती ने गरीबों व दलितों के लिए इस महामारी में क्या मदद की है? दलितों की नेता खुद को स्वयंभू मसीहा घोषित करने वाली बहन मायावती ने अपने तरफ से अबतक पीएम केयर्स फंड में एक भी रुपया नही दिया है और ना ही गरीबों दलितों व असहायों के लिए कोई मदद की है।

अरुण पाठक, राष्ट्रीय अध्यक्ष विश्व हिन्दू सेना

अरुण पाठक ने आरोप लगाते हुए कहा कि मायावती के पास अरबों रुपये हैं जो उन्होंने घोटालों और चंदों से इकट्ठे किये हैं। यही नहीं वो विधायक और सांसद के टिकट के बदले करोड़ों रुपये लेती हैं जिसका खुलासा पूर्व में उन्ही के विधायक सांसद और करीबी मंत्री कर चुके हैं। लेकिन जब देश पर संकट आया है तो वो दिखाई नही दे रही हैं। न उनका पार्टी फंड काम आ रहा है ना ही उनके द्वारा अर्जित किया गया काला धन। जबकि उन्हें इस महामारी के दौर में मदद के आगे आकर खुद को गरीबों व दलितों की मसीहा बनने का गौरव प्राप्त करना चाहिए। मगर वो दौलत की देवी बन महल में बैठी हैं। आज गरीब रोटी का मोहताज हो रहा है और उनसे सवाल कर रहा है।

रिपोर्ट : दिनेश मिश्र