कोरोनारूपी अन्धकार को दूर करने के लिये एनडीआरएफ ने जलाए दिये

कोरोनारूपी अन्धकार को दूर करने के लिये एनडीआरएफ ने जलाए दिये

वाराणसी। देश के प्रधानमंत्री व वाराणसी के सांसद नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्र को सम्बोधित करते हुये 5 अप्रैल को कोरोना संकट के अंधकार को चुनौती देने लिए लाइट बंद करके दिया जलाने की अपील की थी। उन्होंने कहा था, ‘‘हमें प्रकाश की ताकत का परिचय कराना है। रविवार को 130 करोड़ देशवासियों की महाशक्ति का जागरण करना है। घर की सभी लाइटें बंद कर, दरवाजे पर या बालकनी में, खड़े रहकर, 9 मिनट के लिए मोमबत्ती, दीया, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाएं। ताकि अपने घरों में मौजूद कोई भी कोरोना के खिलाफ लड़ाई में खुद को अकेला महसूस न करे। प्रकाश के इस आयोजन के दौरान सोशल डेस्टेंसिंग की लक्ष्मण रेखा का भी ध्यान रखें। कोरोना संकट को हराने के लिए प्रकाश के तेज को चारों ओर फैलाना है। दुनिया में ऐसा कुछ नहीं है, जो हम ताकत से हासिल न कर पाएं।’’

इसी अपील को ध्यान मे रखते हुये एनडीआरएफ वाराणसी के जवानों ने संकुल भवन स्थित अपने परिसर में दिये वा टॉर्च लाईट जलाकर कोरोनारुपी अन्धकार में पूरे परिसर को उजाले से जगमगा दिया । ऐसी संकट की स्थिति में ये उजाला हमें सीख देता है कि अन्धकार कितना भी गहरा क्यों ना हो उसे दूर करने के लिये एक छोटा दीपक ही पर्याप्त होता है। इसी सीख के साथ एनडीआरएफ सम्पूर्ण भारतवासियों के साथ अपने विश्वास, संयम और संकल्प से कोरोना वायरस से फैली इस महामारी से निश्चित रुप से विजय प्राप्त करेंगे।

रिपोर्ट : विकास यादव