पेटलावद के भूमाफियाओ की ताकत के आगे प्रशासन के बूलडोजर की निकली हवा, गरीबो पर तो हुई कार्यवाई लेकिन बडे भूमाफिया आज भी अपने कब्जो पर काबिज, थमी कार्यवाई से उठ रहे सवाल –

पेटलावद के भूमाफियाओ की ताकत के आगे प्रशासन के बूलडोजर की निकली हवा, गरीबो पर तो हुई कार्यवाई लेकिन बडे भूमाफिया आज भी अपने कब्जो पर काबिज, थमी कार्यवाई से उठ रहे सवाल –

News@- रिपोर्टर्स पेज –
पेटलावद (झाबुआ) – मध्यप्रदेश मे कमलनाथ सरकार लगातार भूमाफियाओ पर सिंकजा कसते हुए आगे बढ रही है, बडे-बडे भूमाफियाओ की हस्ती को जमीदोज कर दिया है। मध्यप्रदेश सरकार के इस बडे अभियान से आम जन मे भी खुशी देखी जा रही है। मध्यप्रदेश के इंदौर से शुरू हुई कार्यवाई झाबुआ जिले के पेटलावद भी पंहुची थी जहां भी पुरे दल बल के साथ के प्रशासन ने गरीबो की गुमटीयो को जमीदोज कर दिया था, गरीबो के आशियाने के साथ उनकी दो वक्त रोटी कमाने वाले रोजगार भी छीन लिया गया था। और अगर किसी ने विरोध या अपने उजडते आशियाने को बचाने की कोशिश की तो प्रदेश सरकार का आदेश बताकर उसे चुप करा दिया गया था। भूमाफियाओ के खिलाफ चलाये गये इस अभियान मे छोटे-छोटे गरीब लोगो को तो उजाड़ दिया गया किन्तु पेटलावद नगर के बडे भूमाफिया आज भी अपने कब्जो पर काबिज है। प्रशासन के बुलडोजर की हवा उस समय निकल गई जब बात बडे भूमाफियाओ की आई। गरीब गुमटी धारियो की माने तो उन्हे अपनी रोजीरोटी छीन जाने का जितना दुखः नही है उतना उनके साथ हुए पक्षपात को लेकर है। क्योकी भूमाफियाओ के नाम पर गरीबो को तो उजाड दिया। क्या? असल भूमाफिया सुरक्षित रहेगें। प्रशासान की इस पुरी कार्यवाई के दौरान नगर के बडे-बडे भूमाफियाओ के नाम सामने आये जिन्होने बेशकिमती जमीनो पर अपने आलीशान निर्माण खडे कर रखे है किन्तु फिर भी प्रशासन भूमाफियाओ पर कार्यवाई करने बच रहा है। जबकी गरीब लोग आज भी उन टुटी-फुटी गुमटीयो मे अपना रोजगार संचालित करने के लिए इधर से उधर भटक रहे है। प्रशसान की भूमाफिया विरोधी कार्यवाई असर पेटलावद मे सिर्फ गरीबो पर हुआ है। जहां असल मे जरूरत थी वह आज सुरक्षित है। प्रदेश मे बडे-बडे भूमाफियाओ के खिलाफ प्रशासन का बूलडोजर चला है लेकीन पेटलावद मे लगाता है की प्रदेश के सबसे बडे बाहुबल वाले भूमाफिया तो पेटलावद मे है। क्योकी जहां किसी की नही चली वहां आज पेटलावद के भूमाफिया सुरक्षित है। भूमाफिया के खिलाफ चलाई जा रही इस कार्यवाई के कई राजनितिक रंग भी सामने आ रहे है। सुत्रो की माने तो भूमाफियाओ द्वारा पुरे अभियान को दुसरी दिशा मे मोडने के तमाम प्रयास किये जा रहे हैै। जिस हेतू भूमाफिया बाहुबल सहीत धनबल का सहारा ले रहे है। अगर इस तरह  भूमाफिया अपने इरादो मे सफल होते है और प्रशासन का बूलडोजर यही थम कर रह जाता है तो पेटलावद नगर के गरीबो पर हुई कार्यवाई से पक्षपात करने से इंकार नही किया जा सकता।