विधायक प्रतिनिधि ने लगाया प्रशासन पर शासन को बदनाम करने का आरोप, कहा कि बड़े माफ़ियाओ के अवैध कब्जे हटाने के लिये कहा था, न कि गरीबो का आशियाना हटाने को ,मामला पेटलावद अतिक्रमण मुहिम का –

विधायक प्रतिनिधि ने लगाया प्रशासन पर शासन को बदनाम करने का आरोप, कहा कि बड़े माफ़ियाओ के अवैध कब्जे हटाने के लिये कहा था, न कि गरीबो का आशियाना हटाने को ,मामला पेटलावद अतिक्रमण मुहिम का –

News@- सुनील खोड़े –
पेटलावद में हुई आज द्वेषतापूर्ण अतिक्रमण मुहिम पर विधायक प्रतिनिधि मन्नालाल हामड ने शासन को बदनाम करने का आरोप लगाया है। मन्नालाल हामड ने चर्चा के दौरान बताया कि अतिक्रमण मुहिम केवल शासन को बदनाम करने के लिए की जा रही है। जिस तरह से पेटलावद थाना प्रभारी द्वारा अतिक्रमण तोड़ते हुए यह कहना कि मुख्यमंत्री द्वारा आदेश मिला है तो हम ताबड़तोड़ कार्रवाई कर रहे हैं। यह कहना गलत है। मुख्यमंत्री द्वारा केवल बड़े भू माफिया और अवैध कारोबारी जुआ, सट्टा, बार, अवैध शराब माफिया चलाने वाले के ऊपर कार्यवाही के निर्देश दिए हैं ना कि मजबूर लोगों पर जेसीबी चलाने के लिए। पेटलावद में प्रशासन ने जो ताबड़तोड़ कार्रवाई की है वह निंदनीय है। जनता को 2 घंटे तक का मौका नहीं दिया। भरी दुकानों को उड़ेल दिया गया। नगर में कई बड़े-बड़े भूमाफिया है जिन्होंने कई अवैध कालोनियां काट रखी है, यहां तक कि पुलिस थाने के पास ही एक भूमाफिया ने तो हजारों फिट अतिक्रमण कर कॉलोनी काट दी है। शासकिय कन्या शाला के सामने रोड से 40 फिट तक का अतिक्रमण किया हुआ है। कई जगह अवैध कालोनी काट कर प्लाट तैयार पड़े हुए है। ऐसे बड़े भूमाफियाओ के ऊपर कारवाई ना करते हुए छोटे लोगों को उनसे रोजगार छीन कर उनकी घुमटीया को तोड़कर निस्तानाबूत करना प्रशासन की दोहरी कार्यवाही है। उन्होंने बताया कि हम अनुविभागीय अधिकारी मालवीय जी के पास गए थे। उनको पूरी स्थिति के बारे में बताया तो उन्होंने आश्वासन दिया है की बड़े अवैध कब्जाधारीओ एवं बड़े भूमाफिया पर कार्रवाई जल्द ही की जाएगी।
आपको बता दे कि अतिक्रमण मुहिम के दौरान आम नागरिकों एवं गुमटीधरियो में कांग्रेस के प्रति आक्रोश देखा जा रहा था, जिसके चलते कांग्रेस के विधायक प्रतिनिधि द्वारा बयान जारी किया गया है।