बैंको की मनमानी के चलते छात्र-छात्राओं को नही मिल रही गणवेश की राशि, शिक्षक पैसे जमा करने हेतु हो रहे परेशान, बैंक वाले कटवा रहे चक्कर –

बैंको की मनमानी के चलते छात्र-छात्राओं को नही मिल रही गणवेश की राशि, शिक्षक पैसे जमा करने हेतु हो रहे परेशान, बैंक वाले कटवा रहे चक्कर –

News- राजेश राठौड़ –
रायपुरिया (झाबुआ) – बैको कि मनमानी के चलते स्कूली खाते राष्ट्रीय कृत बैंकों में होने के बाद भी छात्र-छात्राओं के गणवेश की राशि के लिए तरस रहे हैं। शिक्षक जब बैंकों में छात्रों की सूची लेकर बैंक जाते हैं तो वहां पर उन्हें इधर उधर के चक्कर लगवाते हैं कहते हैं कि आप बड़ौदा बैंक जाओ वहां से बोलते हैं कि स्टेट बैंक जाओ अब ऐसे में शिक्षक क्या करें क्योंकि जिला कलेक्टर ने सख्त निर्देश दिए हुए हैं की सभी छात्र छात्राओं को गणवेश राशि दी जाए लेकिन बैंक वाले वह होने नहीं दे रहे हैं सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार क्षेत्र के कई शिक्षकों ने अपनी पीड़ा बताते हुए बताया कि हम परेशान हो गए हैं। राशि आए हुए स्कूल खाते में करीबन 15 से 20 दिन होने को आए लेकिन वह राशि हम जब बच्चों के खाते में जमा करने के लिए सूची लेकर जाते हैं तो हमें इस बैंक से उस बैंक का बोलते हैं अब कैसे हम बच्चों की पढ़ाई कराएं क्योंकि दिन भर गणवेश राशि के लिए हो जाता है। पेटलावद क्षेत्र की अधिकतर बैंकों के कर्मचारीयो की यही हालत रहती है कभी भी किसी भी ग्राहक व खातेदारों से संतुष्टि से बात ही नहीं करते हैं। जब इस विषय में बीआरसी सियाराम रायपुरियाजी से बात की तो उनका कहना है कि मुझे भी कुछ शिक्षकों ने अपनी पीड़ा बताई थी तो मैंने स्टेट बैंक के मैनेजर से बात की तो मैनेजर का कहना था कि हमारे पास स्टाफ की कमी है हम क्या करें लेकिन फिर भी मेरी कोशिश है कि जो कलेक्टर साहब ने हमें लेटर जारी किया है वह हम बैंक मैनेजर को बताएंगे और इस समस्या का हल निकालेंगे।