आक्रोशित ग्रामीणों ने विद्युत विभाग पहुँचकर किया अधिकारी का घेराव, एक हफ्ते से गांव में नही है बिजली, जिससे नाराज ग्रामीणों ने किया घेराव –

आक्रोशित ग्रामीणों ने विद्युत विभाग पहुँचकर किया अधिकारी का घेराव, एक हफ्ते से गांव में नही है बिजली, जिससे नाराज ग्रामीणों ने किया घेराव –

News@- सुनील खोड़े –
पेटलावद (झाबुआ) – विद्युत मंडल की मनमानी और लापरवाही का खामियाजा उपभोक्ताओं को भुगतना पड़ रहा है। विद्युत मंडल से त्रस्त उपभोक्ता आखिर कहां अपनी पीड़ा किससे से बयां करें। लगातार क्षेत्र में विद्युत मंडल द्वारा पूरे गांव के गांव को ब्लैक आउट किया जा रहा है। जबकि नियम अनुसार जो उपभोक्ता बिल समय अनुसार नहीं भर रहा उसका ही कनेक्शन काटने का प्रावधान है, परंतु कुछ उपभोक्ताओं के चक्कर में पूरे गांव की बिजली काटकर बिजली का बिल भरवाने का भी दबाव बनाया जा रहा है। विद्युत मंडल का यह व्यवहार समझ से परे है।

मामला –
ग्राम पंचायत मोईवागेली में पिछले एक हफ्ते से पूरे गांव की लाइट विद्युत मंडल द्वारा काट दी गई थी, जबकि तकरीबन 500 कनेक्शन पूरे गांव में है जिसमें से करीब 250 लोगों ने अपने बिल का भुगतान कर दिया है, कुछ शेष बचे हैं जिसके चक्कर में पूरे गांव वालों को अंधेरे में रहने पर मजबूर होना पड़ा, जिसको लेकर गुरुवार को मोईवागेली से आक्रोशित दर्जनों ग्रामीण विद्युत मंडल पहुंचे। ओर विद्युत मंडल अधिकारी का घेराव किया। इस दौरान पूर्व भाजपा मंडल अध्यक्ष एवं सरपंच कालूसिंह निनामा भी मोजूद रहे, जिन्होंने ग्रामीणों की समस्या को विद्युत मंडल अधिकारियों के समक्ष रखा और पूरे गांव की लाइट को चालू करने के लिए निवेदन किया। और एक माह में शेष बचा बिजली बिलों का भुगतान करवाने की भी जिम्मेदारी ली।

सरकार के दावे खोखले – इसी के साथ ही मध्य प्रदेश सरकार किसानों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही हैं, जो भी वादे कांग्रेस सरकार ने किए हैं वह खोखले साबित हो रहे हैं चुके अतिवृष्टि के कारण पहले ही किसान परेशान है क्योंकि पूरी फसलें बारिश के कारण बर्बाद हो गई और अब गेहूं की फसलों पर बिजली विभाग द्वारा कटोत्री के साथ ही पूरे गांव की बिजली काटी जा रही हैं ऐसी स्थिति में आखिर कैसे किसान अपनी फसलों को पानी सिंच पाएगा।