नाम पुरुष का फोटो महिला का, फर्जी तरीके से निकाली शोचालय की राशि, कागजो पर बना शौचालय अस्तित्व में नही, मोहकमपुरा पंचायत में भ्रष्टाचार का बोल-बाला –

नाम पुरुष का फोटो महिला का, फर्जी तरीके से निकाली शोचालय की राशि, कागजो पर बना शौचालय अस्तित्व में नही, मोहकमपुरा पंचायत में भ्रष्टाचार का बोल-बाला –

भारत गुंडिया, पीड़ित।

News@- टीम रिपोर्टर्स पेज –
पेटलावद (झाबुआ) – लाखों करोड़ों रुपए शौचालय निर्माण हेतु आवंटित किए गए हैं ताकि हर घर मैं शौचालय हो ओर गांव ही नहीं देश भी शोच मुक्त हो।परन्तु इसका संचालन करने वाले कर्ता धर्ता यानि ब्लॉक समन्वयक बाबूलाल ने वेंडरों ऒर ठेकेदारो से मिलकर लाखो करोड़ों रुपये के शोचालय को कागज़ो पर बनवा कर अपने कर्तव्य की इतिश्री कर ली और उच्च अधिकारियों का श्रेय बटोर लिया परन्तु जमीन हकीकत कुछ और ही बया कर रही हैं। शौचालय निर्माण को लेकर किया गया। भष्टाचार आज भी अपनी दुर्दशा पर आशू बहा रहा है। कागजो पर जिस प्रकार शौचालय निर्माण का आंकड़ा प्रस्तुत किया है। वो बेहद चौकाने वाला है। शौचालय निर्माण को लेकर जितनी सजकता मोर्निंग वाक मे दिखाई गई थी यदि इतनी ही सजकता शौचालयो की वस्तु स्थति जानने मे लगाई होती तो आज लाखो रुपये का फर्जीवड़ा सामने नही आता और लाखों का भ्रष्टाचार होने से बच जाता लाखों के वारे न्यारे होने से बच जाते चुनिंदा ग्राम पंचायतों मैं अधिकारीयो को मॉर्निंग वाक के नाम पर ब्लॉक समन्वयक बाबुलाल ने ख़ूब घुमाया यदि ब्लॉक समन्वयक बाबूलाल जनपद सीईओ सहित जिले की टीम को हथेली में हाथी दिखा सकता है तो इस आदिवासी बहुल जिले के अनपढ़ अनभिज्ञ लोगों को तो आसानी से घुमा फिरा चरा सकता है।

ऑनलाइन दस्तावेज।

”हमारी टीम द्वारा लगातार शौचालय निर्माण में हुए भ्रष्टाचार की सारी तस्वीरें प्रमुखता से उजागर कर रही है। जिस क्रम में ऐसा ही एक ओर मामला ग्राम पंचायत मोहकमपुरा का सामने आया। जिसमें रोजगार सहायक और ब्लॉक समन्वयक बाबूलाल की मिलीभगत में ऐसा कारनामा किया जो के आश्चर्य जनक हैं भारत सिंह गुंडिया जो कि मोहकमपुरा का निवासी है, और यह पिछले कई वर्षों से शौचालय निर्माण की मांग कर रहा है जिसको आज तक शौचालय नहीं मिल पाया परंतु बाबूलाल और रोजगार सहायक ने ऐसा कागज पर खेल खेला की भारत गुंडिया का शौचालय बनाकर तैयार कर दिया। और राशि निकाल ली गई। परंतु इस खेल को खेलते समय बाबूलाल और रोजगार सहायक यह भूल गए कि भारत सिंह गुंडिया पुरुष है ना की महिला और भारत सिंह गुंडिया के स्थान पर महिला को शौचालय के पास खड़ा कर जियो टैग कर दिया इसकी निष्पक्ष जांच होना चाहिए ग्रामीणों की भी मांगे की कोई जिम्मेदार अधिकारी गांव में आकर वस्तु स्थिति को देखें वाह रे बाबूलाल अजब तेरी माया गजब तेरा काम।

आरोप –
भारत गुंडिया के आरोप है कि ग्राम पंचायत मोहकमपुरा में रोजगार सहायक अपनी दबंगई के दम पर किसी भी ग्रामीण को आवाज नही उठाने देता है। रोजगार सहायक द्वारा कलेक्टर से लेकर मुख्यमंत्री तक शिकायत करने की बात कहते हुए कहा जाता है कि में किसी से नही डरता जिसे शिकायत करना है कर दो। साथ ही भारत ने जनपद अधिकारी बाबुलाल परमार पर भी आरोप लगाया है कि बाबुलाल परमार द्वारा गुमराह करते हुए शोचालय की राशि निकाल ली गई है और मेरे घर आज तक शोचालय नही बना है और कागजो पर शोचालय निर्माण कर मुझे शौचलय देना बताया गया है किंतु हमारा परिवार आज भी खुले में शौच करने को मजबूर है।