फिर क्षेत्र के किसानो पर टूटा मुसीबतों का पहाड़, गेंहू की फसल में इल्ली लगने से फसले हुई तबाह –

फिर क्षेत्र के किसानो पर टूटा मुसीबतों का पहाड़, गेंहू की फसल में इल्ली लगने से फसले हुई तबाह –

News@- राजेश राठौड़ –
रायपुरिया (झाबुआ) – किसान गेहूं चने की बोवनी कार्य में जुट गए हैं कुछ किसानों द्वारा गेहूं की बुवाई कर दी गई है उन किसानों की खेतों में गेहूं अंकुरित भी हो चुके हैं लेकिन इल्ली से प्लाट के प्लाट खत्म होते जा रहे है रायपुरिया के नानालाल पिता लच्छीराम पाटीदार ने अपने खेत पर 12 बिघा खेत पर गेहूं की बुवाई करी थी लेकिन पूरा खेत ईल्ली व सफेद मच्छर की चपेट में आ गया किसान मायूस हो गया ओर हताश होने लग गया है क्योंकि जिस खेत में उसने गेहूं की फसल बोई थी वहा करीबन ₹50000 खर्च किए थे अब वापस खेत को तैयार कर दूसरी बार बोवनी करना पड़ेगी ऐसा ही एक ओर किसान नंदकिशोर पिता रामनारायण पाटीदार के खेत की यही हालत हो चुकी है उन्हें उम्मीद थी कि वर्षा ऋतु की फसल अतिवृष्टि से उनकी खराब हो गई थी सोयाबीन मक्का की फसल का जो घाटा हुआ था उन्हें उम्मीद थी कि गेहूं की फसल में पूरा हो जाएगा लेकिन प्रकृति ऐसा करने में नहीं दिखाई दे रही है इस वर्ष ऐसा लग रहा है कि वर्ष 2019 किसानों के लिए संकट भरा दिखाई दे रहा है किसान बड़ी उम्मीद से गेहूं चने की फसल की बोवनी कर रहे हैं वह सोयाबीन, मक्का, उड़द, मूंग का जो उत्पादन कम हुआ था ओर खराब हुई थी उसकी भरपाई गेहू की फसल से हो जाएगी।