बामनिया रेलवे स्टेशन पर अव्यवस्थाओं का अंबार, यात्री परेशान –

बामनिया रेलवे स्टेशन पर अव्यवस्थाओं का अंबार, यात्री परेशान –

News@- दिलीप मालवीय –
बामनिया (झाबुआ) – जिले के विधानसभा क्षेत्र पेटलावद का एकमात्र रेलवे स्टेशन बामनिया स्टेशन को पूर्व में मॉडल स्टेशन का दर्जा दिया गया था यह दर्जा वर्तमान मुख्यमंत्री बिहार के नीतीश कुमार द्वारा तत्कालीन यूपीए गवर्नमेंट भारत सरकार द्वारा जब वह रेल मंत्री हो कर स्वर्गीय मामा बालेश्वर दयाल की पुण्यतिथि पर बामनिया आए थे उसी वक्त क्षेत्र की जनता की मांग पर बामनिया स्टेशन को मॉडल स्टेशन का दर्जा दिया गया था दिल्ली मुंबई के इस मार्ग के बीच में से गुजरने वाली ट्रेन जनता एक्सप्रेस मेमो सवारी गाड़ी अवध एक्सप्रेस अवंतिका एक्सप्रेस पार्सल गाड़ी सहित अधिकतर गाड़ियों का स्टापेज बामनिया रेलवे स्टेशन पर है कहने को तो यह माडल स्टेशन है लेकिन कुल मिलाकर यात्री गाड़ी के समय यहां बाहर की स्थिति काफी दयनीय है सुबह के वक्त एवं शाम के वक्त जितनी भी यात्री गाड़ियां यहां पर रूकती है एवं उतरने वाले यात्री जब बाहर निकलते हैं तो दुर्घटना का भय बना रहता है इसका मुख्य कारण यह है कि यहां स्टेशन के बाहर कई यात्री बसें सवारी को बिठाने के लिए मेन गेट पर ही यात्री बस सवारी बिठाने के चक्कर में गेट पर ही खड़ी कर देते हैं जिससे सुबह एवं शाम के वक्त यात्रियों को निकलने में काफी परेशानियां हो रही है वही स्टेशन प्लेटफॉर्म नंबर 1 के बाहर काफी अव्यवस्थाओं का अंबार लगा हुआ है यहां रेलवे स्टेशन बामनिया में आरपीएफ के पुलिस जवान भी सुरक्षा के लिए है लेकिन इनके द्वारा कभी भी इस और कोई ध्यान नहीं दिया गया है कई लोगों का कहना है कि आरपीएफ पुलिस के संरक्षण में ही इन यात्री बसों सहित दुकानदारों के हौसले बुलंद है जिसके चलते ही वर्षों से जमे आरपीएफ अधिकारी की शह पर ही रेलवे स्टेशन के बाहर यात्री बसों एवं अवैध धंधे वालों द्वारा मनमानी की जा रही है।