स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ डॉक्टर चोयल खुलेआम मांग रहा रिश्वत, महिला प्रस्तुति के नाम से की गई रिश्वत की मांग, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पेटलावद का मामला, सोशल मीडिया पर वीडियो हुआ वायरल –

स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ डॉक्टर चोयल खुलेआम मांग रहा रिश्वत, महिला प्रस्तुति के नाम से की गई रिश्वत की मांग, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पेटलावद का मामला, सोशल मीडिया पर वीडियो हुआ वायरल –

 

News@- दिलीप मालवीय
बामनिया (झाबुआ) – डॉक्टर गोपाल चोयल एवं डॉ उर्मिला चोयल वर्षों से पेटलावद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर अपने पैर पसारे हुए हैं इनके ऊपर अनेक कई गंभीर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हुए हैं पूर्व में भी तत्कालीन सरकार के समय से ही यह बेखौफ सरकारी आवास हो या अस्पताल निजी चोयल हॉस्पिटल में लूटमार का धंधा वर्षों से चलाते आ रहे हैं इनके ऊपर अनेकों नसबंदी या फेल होने का आरोप भी लगा है जो प्रमाणित दस्तावेज समाचार एजेंसी के पास उपलब्ध है जिसमें डॉक्टर चोयल दंपति द्वारा वर्ष 2015 ऑपरेशन की संख्या बढ़ाने के लिए गर्भधारण महिला को भी ऑपरेशन करना बताया जबकि उस महिला का 1 माह का गर्भाशय ऑपरेशन के पहले से ही सोनोग्राफी में दर्ज हुआ था इनकी अनेक शिकायतें भोपाल तक हो चुकी है लेकिन भारी लेनदेन कर तत्कालीन सरकार में यह दंपति बच निकली है आदिवासी इलाके में इनके द्वारा आज भी नसबंदी हो या प्रस्तुति दोनों के नाम से लूटमार की जा रही है इसका ताजा उदाहरण सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पेटलावद में देखने में आया है जहां अंगूरी बाई पति कांति गरवाल ग्राम पंचायत गांव उमेदपुरा डाबड़ी से दिनांक13/ 7 /2019 को खुलेआम कलेक्टर एवं वरिष्ठ अधिकारी के नाम से लाखों रुपए देने की बात ईस वीडियो में कर रहा है एवं प्रस्तुति के नाम से गोपाल चोयल ₹800 की मांग कर रहा है वही इनकी धर्मपत्नी डॉ उर्मिला चोयल डिसचार्ज सर्टिफिकेट के नाम पर ₹300 की मांग की गई हैं इस पूरे प्रकरण को लेकर महिला के पति कांति गरवाल द्वारा मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर 181 पर शिकायत की गई और आज ही कलेक्टर महोदय झाबुआ को भी इस बारे में अवगत करा दिया गया पूरे दस्तावेजों के साथ कलेक्टर महोदय झाबुआ ने सीएमएचओ झाबुआ को तुरंत जांच कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।