शराब माफिया नाबालिक बच्चे से करवाता है शराब सप्लाई, गुमटियों की आड़ में हो रहा बड़े स्तर पर अवैध शराब का कारोबार, पुलिस प्रशासन ध्यान दे !

शराब माफिया नाबालिक बच्चे से करवाता है शराब सप्लाई, गुमटियों की आड़ में हो रहा बड़े स्तर पर अवैध शराब का कारोबार, पुलिस प्रशासन ध्यान दे !

News@- रिपोर्टर्स पेज –
पेटलावद (झाबुआ) – शराब के अवैध कारोबार मे बडे-बडे माफिया पैर पसारे हुए है, क्षेत्र मे बडे पैमाने पर अवैध शराब का कारोबार फल-फुल रहा है। किन्तु आज एक ऐसी तस्वीर हम आपके सामने लेकर आये जिसे देखकर आप हैरान हो जाएगे की एक छोटा सा नाबालिक बच्चा किस तरह अवैध शराब का सप्लाई करता है। और किस तरह शराबीयो को शराब परोसता है। यह नाबालिक बच्चा पुलिस को तो चकमा दे ही रहा है पंरतु जाने-अनजाने मे अपने भविष्य के साथ भी खिलवाड कर रहा है। पुलिस को कार्यवाई करना होगी उस शराब माफिया पर जिसने पैसो की खातिर एक मासूम बच्चे को शराब के इस काले धंधे की और धकेल दिया।

मामला – पेटलावद नगर का है जहां लम्बे समय से श्रद्वांजली चोक से लगी सडक किनारे गुमटियो मे शराब का अवैध कारोबार चल रहा है जिस और ना तो आबकारी विभाग को ध्यान है, और ना ही स्थानीय पुलिस प्रशासन को। जिसका फायदा उठाते हुए गुमटियो मे बडे स्तर पर शराब का अवेध कारोबार संचालित हो रहा है। गुमटियो मे बडे स्तर हजारो रूपये की रोजाना शराबियो को शराब परोसी जा रहा है। सुबह से ही अवैध शराब का खेल यहां संचालित होेने लगाता है। गुमटियो की आड़ मे शराब कारोबारी जोरो पर शराब बेच रहे है। गुमटियो पर नाबालिक बच्चे कार्य कर रहे है। जो दुर रखी झाडियो की आड मे से शराब को गुमटी तक पंहुचाते है और शराबियो के बीच शराब परोसते है।

गुमटी मे शराब बेचने वाले एक शराब माफिया ने अपनी गुमटी से थोडा दूर दामोदर कालोनी मे एक अवैध शराब का अड्डा बनाया है, जहां बडी मात्रा मे अवैध शराब का भंडारण होता है और गुमटी मे शराब की आवश्यकता लगने पर नाबालिक बच्चे की मदद से अवैध शराब को स्कूटी के माध्यम से गुुमटी तक लाया जाता है। अवैध शराब के इस अवैध कारोबार मे शराब माफिया ने एक मासूम बच्चे को धकेल दिया है जिससे नाबलिक बच्चे का भविष्य अंधकार की और है। नाबालिक बच्चा लाल रंग की स्कूटी लेकर दामोदर कालोनी में स्थित शराब के अड्डे पर पहुँचता है और एक बोरे में अवैध शराब रख स्कूटी से पुनः गुमटी पर पहुँचता। जंहा शराबी बडे मजे के साथ शराब का आंनद लेते है।

” मामले मे पुलिस प्रशासन को तत्काल संज्ञान लेना चाहिए क्योकी अवैध शराब के कारोबार के साथ ही एक छोटे बच्चे की जींदगी भी दाव पर लगी हुई है। पढने लिखने की उम्र मे नाबालिक बच्चा शराब के अवैध कारोबार का एक हिस्सा बन चुका है। जिसे पुलिस प्रशासन को आगे आकर बचाना चाहिए और तत्काल गुमटियो की आढ़ मे हो रहे इस अवैध शराब के कारोबार पर अंकुश लगाना चाहिए।