तारखेड़ी में खराब पड़ी स्ट्रीट लाइट, गांव में छाया अंधेरा, जिम्मेदार बेखबर –

तारखेड़ी में खराब पड़ी स्ट्रीट लाइट, गांव में छाया अंधेरा, जिम्मेदार बेखबर –

News@- चरण सिंह लववंशी –
बोलासा (झाबुआ) – तारखेडी में स्ट्रीट लाइटों के खराब होने से अंधेरा छाया रहता त्यौहार की सीजन चालु होने वाली है। शाम होते ही मेन रोड पर लोगों को आने-जाने में दिक्कत होती है। उन्हें चोरी होने का भी डर सता रहा है। लोगों का आरोप है पुर्व में पंचायत द्वारा हजारों रुपये की लागत से स्ट्रीट लाइटों की मेंटिनेंस की गई थी गांव के प्रत्येक पोल पर एलईडी बल्फ लगाए गए थे ,खराब होने के बाद पंचायत द्वारा इसका ध्यान नहीं रखा जा रहा।गांव में दस वार्ड एवं 28 विघुत पोल है जिस पर कुछ पोलौ पर बल्फ लगाए गए थे।कई पोल तार ही दिख रहे हैं। यही स्थिति पास के गांव गरवाखेडी, टांडा की है उनका कहना है कि स्ट्रीट लाइटों को ठीक कराने के लिए कई बार पंचायत को शिकायत भी की जा चुकी है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।
ग्रामीण ने बताया कि रूडी वाली, बस स्टैंड, मेन रोड और गांव के अंदर गलियों की स्ट्रीट लाइटें खराब पड़ी हैं। इससे रोड पर आने जाने वाली महिलाओं के साथ की घटनाएं भी घटित हो सकती है

सरपंच तेजा लाल सिंगाड का कहना है कि, कर्मचारी भेजकर खराब पड़ी स्ट्रीट लाइटों को ठीक करवाने का काम करवाया जाएगा एवं नये पोल बस स्टैंड पर भी लगायेंगे।

ग्रामीणों का कहना –
स्ट्रीट लाइटों के खराब होने से मेन रोड के साथ ही मुख्य की गलियों में भी अंधेरा छाया रहता है। इस वजह से शाम होते ही यहां असामाजिक तत्वों का जमावड़ा लग जाता है।

गांव में पहले स्टीट लाईट का मेंटिनेंस कार्य करवाया जाता था, लेकिन जब से पोल पर कैबल डाली गई है है यहां मेंटिनेंस कार्य बिल्कुल ही नहीं किया जा रहा है। – पंच गण आनंदीलाल, दुलेसिग, कुलदीप, अन्य।

बस स्टेशन पर चोराहा के समिप करिब दो माह से 11हजार के,वी बिजली का एक पोल सड़क पर झूल रहा है। इससे बड़ी दुर्घटना की आशंका है।स्टेशन पर बिजली का पोल करीब दो माह से लटका हुआ है। पास कि ग्राम पंचायत मोहमकपुरा में कुछ दिनों पुर्व में विघुत तार टुटने से एक किसान की खेत पर मोत हो चुकी है कई बार शिकायत करने के बाद भी जिम्मेदार अनजान है। इसके चलते इस मार्ग आने-जाने पर हमेशा खतरा मंडरा रहा है।पास बारिश का दौर इस समय अनवरत जारी है। इसके चलते यह पोल कभी भी धराशायी हो सकता है। मकान मालिक व ग्रामवासियों द्वारा बिजली कर्मचारियों को इस परेशानी से अवगत करवा दिया गया है, किन्तु आज दिन तक अभी तक कोई निराकारण नहीं हो पाया। मार्ग इंदौर – अहमदाबाद से जुड़ा हुआ है दिन भर बसों का आवागमन रहता। अगर किसी बस पर पोल गीरा तो करिब 50-60 लोगों जान जा सकती है।पास में शासकीय विद्यालय है बच्चे उसी मार्ग से स्कुल आते -जाते रहते हैं।

ऐसी स्थिति में घर मालिक सहित आसपास के लोग खौफ में जी रहे हैं। उन्हें हमेशा यही डर सता रहा है कि कही बिजली का पोल घर पर गिर न जाए। ग्रामीणों ने मांग की है कि यदि समय रहते इस क्षतिग्रस्त पोल को नहीं हटाया गया तो कभी भी बड़ी जनहानि हो सकती है

नई बस्ती वार्ड 11 मे ग्रामीण को 800 मी. दुर टांसफर से निजी तारो से लाकर घरों में लाईट चला रहे हैं बिल प्रति माह भरते हैं वार्ड निवासी मौहन बुध्धा, आनौखिलाल, , कैलाश, राजु, समिप शासकीय पटवारी भवन हैं।

ग्रामीण जन भेरू लोधा –
कभी पोल गीर सकता विभाग लापरवाह या कोई दुर्घटना होने का इंतजार कर रहे हैं।

नकालु गामड –
समिप शासकीय हाई स्कूल संचालित होती है अगर पोल चपेट बच्चे आ गये पता नहीं कितने मोत की मौत हो सकती है

जिम्मेदार अधिकारी —
दिनेश मोहनिया
कनिष्ट उपयंत्री विघुत केंद्र झकनावदा
पोल की रिपोर्ट आ गई जल्दी नये पोल आते ही लगवाने का कार्य किया जायेगा