प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का नही मिल रहा पूरा लाभ, सैकड़ो किसान अब भी वंचित –

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का नही मिल रहा पूरा लाभ, सैकड़ो किसान अब भी वंचित –

News@- चरणसिंह लववंशी –
बोलासा (झाबुआ) – गांवों में योजनांए धरातल स्तर पर सिर्फ नाम की रह जाती हैं, हितग्राहियों को योजनाओ का लाभ नहीं मिल रहा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का किसानों को पूरा लाभ नहीं मिल पा रहा है। क्षेत्र में आज भी सैकड़ों किसान योजना से वंचित हैं। वहीं कुछ किसानों के खातों में एक, किस्त तक आ चुकी हैं। कई किसान कृषि विभाग और प्रशासन के यहां चक्कर काट रहे हैं। किसान जमीनों के कागजात संबंधित लेखपालों तक दिखा चुके हैं। उसके बाद भी उनके नाम वेबसाइट पर रजिस्टर्ड नहीं हो सके हैं। जल्दबाजी के चक्कर में प्रशासन द्वारा किसानों के आवेदनों में भारी भरकम गलतियां की गई हैं जिसके कारण किसानों के खाते में सम्मान निधि की किस्त नहीं पहुंची।

क्या है किसान सम्मान निधि योजना-
24 फरवरी 2019 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का शुभारंभ किया गया था इस योजना के तहत किसानों को एक साल में छह हजार रुपए दिए जा रहे हैं।

कैसे ले सकते हैं किसान लाभ –
योजना का लाभ लेने के लिए किसान को ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन करना पड़ेगा। किसानों को इसका लाभ पाने के लिए सबसे पहले कृषि विभाग में पंजीकरण करवाना होगा उसके बाद प्रशासन उसके कागजातों की जांच करेगा राजस्व रिकॉर्ड बैंक अकाउंट नंबर मोबाइल नंबर और आधार नंबर पंजीकरण कराते हुए संबंधित लेखपाल, पटवारी को जमा कराना होता है

ये रह गए वंचित –
क्षेत्र के गांव बोलासा, पिठडी, गरवाखेडी, मोहमपुरा,च़ंद्रगढ, सेमरोड ,तारखेडी सहित सैकड़ों लोगों को इस योजना का लाभ अभी तक नहीं मिला है।

क्षेत्र के पटवारी की लापरवाही –
अशिक्षित गरिब किसानो योजना लाभ नही मिल रहा मामला बोलासा किसान पप्पु पिता कालु गामड ने बताया की मेरे द्वारा पटवारी को कमलाबाई पति कालु गामड के नाम से सही बैंक पासबुक जानकारी देने बाद किसी अन्य व्यकि्त के बैंक खाते कि जानकारी अपडेट कर दी। पंजीयन के दौरान खाता नबंर मध्यप्रदेश ग्रामिक बैंक का आईएफससी कोड बैंक आफ बडौदा का डाल रखा है।

ग्रामिणो कहना है कि विभाग द्रारा सभी क्षेत्र के किसानो की पंजीकृत जानकारी की जांच कि जाए योजना मे लापरवाही करने वाले पटवारीयो पर कार्यवाही की जाए।

जानकारी अनुसार बताया जा रहा की क्षेत्र मे कई किसान है जिनको इस योजना का लाभ के पटवारीयो की लापरवाही के कारण लाभ आज-तक नही मिला।

पटवारीयो लापरवाही से आदिवासी क्षेत्र के किसान परेशान छोटे-छोटे कामो के लिए दौड़ रहे हैं किसान ना फसलों का सर्वे हुआ ना किसानों को मुआवजा मिला कौन सुने गरीब किसानों की पीड़ा सरकार बेखबर है प्रभावित हल्का नंबर 37 तारखेड़ी हल्का नंबर बखतपुरा हल्का नंबर बोलासा हल्का नंबर 26 हल्का नंबर 20 धतुरिया से संतोष परिहार पप्पू निनामा कालो, सिंघम और दिनेश परिहार ने बताया आज तक फसल खराब का सर्वे तक नहीं हुआ है

फसलों खराब सर्वे नहीं किया किसान चिंतित –
कितने गांव आते हैं तारखेड़ी गरबाखेड़ी, मोकमपुरा, चंद्रगढ बोलासा, कुआ, लामडीपाडा, आबापाडा, पिठडी, अंबापाड़ा धतूरिया जो सुरपाड़ा, धोली खाली जवानपुरा पिपली पाड़ा, कमल खेड़ा बोरिया चंदा को रूपा खेड़ा कुंभा खेड़ी सहित दर्जनों गांव में आज तक सर्वे नहीं हुआ है और पटवारियों की हड़ताल से सर्वे नहीं होने से किसान चिंतित हैं शासन को तुरंत निर्णय लेना चाहिए और सर्वे करवाकर उचित मुआवजा किसानों को मिलना चाहिए यदि ऐसी स्थिति बनी रही तो किसान संघ द्वारा मुआवजा की मांग की गई। जल्द ही सर्वे कर मुआवजा नहीं मिलने पर आंदोलन करेंगे

मांग करता किसान –
रामेश्वर पाटीदार, मनोहर लाल पाटीदार गिरधारी लाल पाटीदार, भरत पडियार, सुरेश, मोहनलाल पाटीदार, गरबा खेड़ी से भंवरलाल भिलोतिया पूर्व सरपंच लिंबा वसुनिया सरपंच तेजा लाल सिंगाड, कैलाश लोधा कुभाखेडी से आयदन, गंगा राम लोधा, कुलदीप सिंह लववंशी आदि ने मांग की है।

इनका कहना –
क्षेत्र के किसान यदि लिखित मे आवेदन देते है सबंधीत लापरवाही करने वाले पटवारीयो, अधिकारी पर कार्यवाही की जावेगी।
एम.एल.मालवीय अनुविभागीय अधिकारी पेटलावद