अतिवृष्टि से किसानों की फसले हुई बर्बाद, कर्ज में डूबे किसानों पर टूट मुसीबतों का पहाड़ –

अतिवृष्टि से किसानों की फसले हुई बर्बाद, कर्ज में डूबे किसानों पर टूट मुसीबतों का पहाड़ –

News@- राजेश राठौड़ –
रायपुरिया (झाबुआ) – अतिवृष्टि से किसानों की बोई हुई फसल खराब हो गई सोयाबीन, मक्का, उड़द, मूंग आदि फसलें खराब हो गई किसान चिंतित दिखाई दे रहे है कि अब क्या होगा ओर ऐसे मे बैंकों का कर्ज़ कैसे भरेंगे अब फसलो से आस टूटती जा रही है गाँव के किसान सुंदरलाल पाटीदार व राजू पाटीदार ने बताया कि हमारे खेत प्लाट के प्लाट खत्म हो गए हैं सोयाबीन मे जो दाने भर गए थे वह वापस अब अंकुरित हो गए हैं खेतों में पढ़े पढ़े ही खराब हो रहे हैं कटाई भी अब महंगी पड़ेगी क्योंकि कुछ बचा ही नहीं हमने हल्का पटवारी को हमारे खेत में जो फसल खराब हो गई है उसकी सूचना दे दी है लेकिन अब देखना है कि प्रशासन इन किसानों के खेतों में कब पहुंचेगा और कब इनकी नुकसानी का आंकलन होगा ।सुंदरलाल पाटीदार ने बताया कि हमने हमारी फसलों का बीमा करवा रखा है और हर साल हम फसलों का बीमा कराते हैं लेकिन हमको कभी बीमा क्लेम मिलता ही नहीं 3 दिन की धूप होने के बाद कल शाम ग्रामीण अंचलों में फिर बादल बरसे वह भी करीबन एक से डेढ़ घंटे की बारिश हुई जिसमें एक बार पुनः नदी नाले उफान पर आ गए किसानों के खेत में पानी भरा हुआ दिखाई दे रहा है जब हमने किसानो के खेतो का निरीक्षण किया तो देखा की इनकी फसलो में कुछ भी बचा हुआ नहीं दिखाई दे रहा है किसानों के आंखों में आंसू झलक रहे थे क्योंकि इन फसलों पर काफी उम्मीदें रहती है क्षेत्र के ऐसे कई किसान हैं जिनकी फसले खराब हो चुकी है सोयाबीन के पत्ते पीले बढ़ गए हैं।