राठौड़ समाज द्वारा प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी डोल ग्यारस पर भव्य रूप से निकाली गई शोभा-यात्रा, नगर में जगह-जगह हुई फूलों की वर्षा –

राठौड़ समाज द्वारा प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी डोल ग्यारस पर भव्य रूप से निकाली गई शोभा-यात्रा, नगर में जगह-जगह हुई फूलों की वर्षा –

News@- अनिल डामोर –
पेटलावद (झाबुआ) – राठौड़ समाज द्धारा प्रतिवर्ष अनुसार इस वर्ष भी भगवान लक्षमीनारायण जी की शोभयात्रा राठौर समाज मंदिर से निकाली गयी। यात्रा के पुवं समाज के अध्यक्ष नारायण राठौड़ के यहां से ध्वज यात्रा लेकर सभी समाज जन लक्ष्मी नारायण मंदिर पहुंचे जहां पर भगवान को पोशाक चढ़ाई गई। जिसके पश्चात 11 बजे से बोली लगाई गयी जिसमें भगवान की आरती उतारना भगवान को झुले मे बिठाना। भगवान को माला पहनाना, ध्वज लेकर घोडे ,पर बैठना आदि । ये बोलीयां समाजजनो के द्धारा ही लगायी गयी। यात्रा दोपहर 1 बजे से शुरू हुई यात्रा बैड बाजे और डीजे पर गुजते श्री कृष्ण भक्ति के गीत की टोलियो मे नाचते गाते भक्त निकले। राठौर समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष रतनलाल राठौड़ अपनी टीम के साथ शोभायात्रा में शामिल हुए जहां पर समाज जनों के द्वारा श्री राठौड़ का पुष्पमाला से स्वागत किया गया।
जगह जगह फुलो की बारिश से यात्रा का स्वागत किया गया। यात्रा में युवाओ की टोली झुमते हुऐ नाचते हुऐ निकले। शौभायात्रा में पुरूष सफेद कुर्ता व विशेष साफा बाधे व महिलाऐ लाल रगं की साडी पहनी हुई थी। यह एक विशेष नजारा देखने को मिला । शैभायात्रा नगर के प्रमुख मार्ग से निकाली गयी। यह यात्रा राजापुरा के बडा रामजी के मंदिर पहुची। जहां भगवान की आरती व प्रसाद वितरति की गयी। यात्रा का स्वागत नगर के समस्त संगठन द्धारा स्वागत मंच लगाकर किया गया। जहां पुराना बस स्टैण्ड पर यात्रा का स्वागत नगर परिषद के अध्यक्ष मनोहरलाल भटेवरा, एवं समस्त पार्षद ने स्वागत किया।