लोगो की प्यास बुझाने के लिये समाजसेवी मैनुद्दीन खान ने लगाया शहर में 10 आरो प्लाट –

लोगो की प्यास बुझाने के लिये समाजसेवी मैनुद्दीन खान ने लगाया शहर में 10 आरो प्लाट –

News@- सत्यप्रकाश तिवारी –
देवरिया (यूपी) – कभी प्यासे को पानी पिलाया नही तो अमृत पिलाने से क्या फायदा यह कहावत सही बैठता है बुधुखा गाँव के रहने वाले समाजसेवी मैनुद्दीन खान पे उन्होंने शहर के उन जगहों पर आरो प्लांट लगाया जहाँ पानी की सबसे ज्यादा जरूरत थी ।
रामपुर कारखाना थाना क्षेत्र के बुधुखा गाँव के समाजसेवी व धनलक्ष्मी इलेक्ट्रिकल कम्पनी के सीएमडी मैनुद्दीन खान अपने सामाजिक कार्यो से लोगो के जुबा पर रहते है वही आज समाजसेवी मैनुद्दीन खान ने देवरिया शहर के दस जगहों पे आरो प्लांट लगवाया जहाँ लोगो को पानी की सबसे ज्यादा जरूत थी जिसका उद्धघाटन देवरिया के सांसद रमापति राम ने त्रिपाठी ने किया और कहा कि समाजसेवा तो बहुत लोग कर रहे है लेकिन जो यह काम समाजसेवी मैनुद्दीन खान कर रहे वो बहुत ही सराहनीय कार्य है लोगो को पानी पिलाना बहुत ही पुनीत कार्य है।
पिता से मिली समाजसेवा करने की सिख मैनुद्दीन खान।
समाजसेवी मैनुद्दीन खान ने बताया कि बचपन पिता जी को देखता था कि वो बिना स्वार्थ के लोगो के सुख दुख में सरीख होते और लोगो की सेवा करते थे और वही से मैने भी मन बना लिया कि मैं भी लोगो की निःस्वार्थ भाव से सेवा करूँगा और सभी के सुख दुख में सरीख हो कर लोगो की सेवा करता हूं।
धर्म और मजहब से ऊपर है समाजसेवा मैनुद्दीन खान।
समाजसेवी मैनुद्दीन खान का मानना है की धर्म और मजहब से ऊपर है समाजसेवा औऱ इन्ही समाजिक कार्यो से वो समाज मे चर्चा का विषय बने रहते है मैनुद्दीन खान ने हालही के दिनों में सैकड़ो गरीब लड़कियों की शादी कराई गरीबी से जूझ रहे बच्चो को पढ़ाई से लेकर उनकी हर व्यवस्था का जिम्मा उठाया है जो गरीबी की वजह से पढ़ाई नही कर सकते थे।
तीन गाव को लिया गोद लेकर कराया ओडीएफ समाजसेवी मैनुद्दीन खान ने।
समाजसेवी मैनुद्दीन खान ने आज वो कर दिखाया जो किसी जनप्रतिनिधियों को करना चाहिये उन्होंने अपने गाँव से सटे तीन गांवो को गोद लिया है और प्रधानमंत्री मंत्री की ड्रीम प्रोजेक्ट स्वच्छ भारत मिशन की तर्ज पर तीनों गावो में शौचालय बनवा कर गाँव को ओडीएफ कराया और स्ट्रीक लाईट व सोलर लगा कर गाँव को उजाला किया।
मरीजो की सेवा के लिये फ्री में चलाया एम्बुलेंस।
समाजसेवी मैनुद्दीन खान ने मरीजो के लिये 24 घण्टे फ्री में एम्बुलेंस चलाया है वही सैकड़ो मरीजो का उन्होंने अपने पैसे से ईलाज करा कर उनकी जान बचाई है समाजसेवी मैनुद्दीन खान ने बताया कि मैं चाहता हूं कि कोई भी व्यक्ति की पैसे की आभाव में मौत न हो इस लिये मैने यह सोच बनाई की क्यों न मैं उन गरीबो की मद्दत करू जो पैसे के अभाव में अपना ईलाज नही करा सकते मैं उनका खुद ईलाज कराओ जिससे उनकी जिंदगी बच सके यह कार्य कर के मुझे बहुत सकून मिलता है।
समाजसेवा करने के दौरान मिला बैंग्गलोर में बेस्ट शोशल वर्कर का एपीजे अब्दुल कलाम एवार्ड।
समाजसेवी मैनुद्दीन खान की समाजसेवा और लोक प्रियता को देखते हुये बैंग्गलोर में आयोजित बेस्ट सोशल वर्कर कार्यक्रम के दौरान इन्हें डॉ एपीजे अब्दुल कलाम एवार्ड से भी नवाजा गया वही में भी बेस्ट विजनेस मैन के रूप में लन्दन मे भी महात्मा गान्धी सम्मान एवार्ड से नवाजे गये थे।जिससे उन्होंने देश विदेश में अपने जिले और गाँव बुधुखा का नाम रौशन किया था।