स्कूल भवन हुआ जर्जर, पंचायत भवन में बैठकर बच्चे कर रहे पढ़ाई, ग्रामीणों ने की स्कूल भवन की मांग –

स्कूल भवन हुआ जर्जर, पंचायत भवन में बैठकर बच्चे कर रहे पढ़ाई, ग्रामीणों ने की स्कूल भवन की मांग –

News@-इमरान खान/राज मेड़ा –
थांदला (झाबुआ)- सरकार द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में करोड़ो रूपये की योजनाएं संचालित की जा रही है। बच्चो को अच्छी शिक्षा मिल सके जिसके पूरे प्रयास सरकार द्वारा किये जा रहे है। बच्चो को अच्छे स्कूल भवन, ड्रेस, किताबे, मध्यान्ह भोजन सहित कई ऐसी उचित सुविधाए भी सरकार द्वारा दी जा रही है। किन्तु आदिवासी बाहुल्य झाबुआ जिले मे आज भी हालात बेहद चिंता जनक है।
मामला जनपद पंचायत थांदला के वालाखोरी गाँव का है। जंहा लंबे समय से प्राथमिक स्कूल भवन जर्जर हो चुका है। स्कूल भवन का निर्माण कई वर्षों पुराना है, जो पूरी तरह जर्जर हो चुका है, किसी तरह स्कूल के पूर्व अध्यापक धनसिंह मावी द्वारा स्कूल की मरमत करवा कर कुछ दिनों तक बच्चो को उसी भवन में शिक्षा दी किन्तु अब भवन की स्थिति बैठकर पढने लायक नही है। जिस वजह से अब बच्चो को पंचायत भवन में बेठाकर शिक्षको द्वारा शिक्षा दी जा रही है। बात करे पंचायत भवन की तो वहां भी स्थिति खराब है क्यो की पंचायत भवन भी जर्जर स्थिति में है। अब ग्रामीणों ने बच्चो के लिए एक अच्छे स्कूल भवन की मांग की है। ग्राम वालाखोरी के ग्रामीणों का कहना है कि स्कूल भवन की गांव में बहुत जरूरत है बिना स्कूल भवन के बच्चो को पढ़ाने में काफी परेशानियां आ रही है, बारिश के दिनों में जर्जर भवन में डर बना रहता है कही कोई अप्रिय दुर्घटना ना हो जाये। उच्च अधिकारियों को इस ओर ध्यान देते हुए तत्काल नवीन स्कूल भवन का निर्माण करवाना चाहिए ताकि बच्चो की पढ़ाई प्रभावित ना हो और बच्चे सुरक्षित भी रह सके।