सेकड़ो कावड़िये निकले कावड़ लेकर, केशव की जय हो, माधव की जय हो और बोल बम से गुंजा खवासा –

सेकड़ो कावड़िये निकले कावड़ लेकर, केशव की जय हो, माधव की जय हो और बोल बम से गुंजा खवासा –

News@- आनंदीलाल सिसोदिया –
खवासा (झाबुआ) ऐतिहासिक…,अद्भुत…,अविस्मरणीययह शब्द उस समय हर किसी के मुंह से निकले जिन्होंने शहर में इतनी बड़ी कावड़ यात्रा देखी शहर का कोई गली-मोहल्ला ऐसा नहीं बचा जहां एक ही समय कावड़ियों का रैला नजर नहीं आ रहा हो लोगों ने भी कावड़ियों के सत्कार में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी।सोमवार को सेवा भारती ने नगर की सबसे बड़ी कावड़ यात्रा निकाली जिसमें खवासा, मादलदा,रत्नाली,नरसिंहपाड़ा,
मकोड़िया और इटानखेड़ा क्षेत्र के लगभग सेकड़ो कावड़ियों ने सहभागिता की इतने सारे कावड़ियो के एक स्वर में हर-हर बम-बम और केशव की जय हो -माधव की जय हो के नारे से पूरा नगर गूंज गया तो नजारा देख लगा मानो शहर में कावड़ियों का महाकुंभ लगा हो।इससे पूर्व खवासा से 30 किमी दूर यात्रा के शुरुआती स्थल शेलज से कावड़ियों को भाजपा मंडल अध्यक्ष रमेश बारिया ने तिलक लगाकर रवाना किया वही सेकड़ो कार्यकर्ताओं ने भामल में रात्रि में विश्राम किया व सुबह भामल से पुनः खवासा की और प्रस्थान किया,जहाँ गोपाल मंदिर पर भाजपा मंडल अध्यक्ष रमेश बारिया सहित अन्य कार्यकर्ताओं ने स्वागत सत्कार किया गया।

ये था कावड़ यात्रा का रूट – रोग्या देवी मंदिर से शुरू हुई यात्रा गणेश मंदिर,मुरली मोहल्ला,पुरानी टंकी,किसान मोहल्ला,राम मंदिर,भेरू चोक,निम चोक,लोहार मोहल्ला से होती हुई मुख्य चौराहे से जाते हुए बामनिया रोड स्थित मंडी परिषर पहुँची जहाँ पर भाजपा मंडल अध्यक्ष और सरपंच रमेश बारिया स्वल्पाहार कराया गया।वही कावड़ियों का स्वागत जिला प्रचारक गौरसिंह कटारा,पुंज कावड़ प्रभारी बंटी दरबोडिया,पुंज संयोजक मकन सिंह,पुंज प्रमुख शंकर खराड़ी,लालसिंह पारगी,कमल पटेल,टीकमदास वैरागी,देवीसिंह देवदा,बहादुर सहित अन्य ने किया।