शनैश्चरी अमावस्या पर हुए कई धार्मिक आयोजन, सिंघेश्वर धाम पर श्रद्वालुओ ने लगाई आस्था की डुबकी –

शनैश्चरी अमावस्या पर हुए कई धार्मिक आयोजन, सिंघेश्वर धाम पर श्रद्वालुओ ने लगाई आस्था की डुबकी –


News- हरीश राठौड़ –
पेटलावद (झाबुआ)- शनैश्चरी अमावस्या के पावन पर्व पर क्षेत्र मे कई धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किये गये। भगवान शनिदेव के मंदिरो पर सुबह से ही भक्तो का ताता लगा रहा। वही क्षेत्र के प्राचीन सिंघेश्वर धाम पर भी बडी संख्या मे श्रद्वालु पंहुचे और आस्था की डुबकी लगाई। सिंघेश्वर धाम पर शनैश्चरी अमावस्या पर सैकड़ों भक्तों ने कड़कड़ाती धूप में आस्था की डुबकी लगाई। धाम पर अक्सर अमावस्या, पूर्णिमा, गुरु पूर्णिमा, और ऐसे कई पर्व आते हैं जहां पर लोग सैकड़ों की तादाद में पहुंचते हैं। प्रचीन सिंघेश्वर धाम पर बडी संख्या मे श्रद्वालु दर्शन लाभ एंव आस्था की डुबकी लगाने पंहुचते है। लेकीन प्राचीन धाम होने के बाद भी यहां नदी पर घाट का निर्माण नही किया गया है। जिससे यहां आने वाले श्रद्वालुओ को स्नान करते समय मन मे डर भी बना रहता हैं वही कई अप्रिय घटनाएं भी घाट नही होने से हो चुकी है। 

माही सागर को माता पुजते है माता के रूप मे – क्षेत्र के आदिवासी माही नदी को गंगा की तरह पवित्र मानते है तथा इसे माता के रूप मे पुजते है। जिस कारण से बढे पर्वो पर माही नदी में स्नान का बहुत महत्व बताया गया है। जिसके चलते आज शनैश्चरी अमावस्या को माही नदी के विभिन्न तटो पर हजारो की तादात मे ग्रामीणो ने पर स्नान किया।