विकास की राजनीति को धर्मगुरु करे समर्थन

विकास की राजनीति को धर्मगुरु करे समर्थन: मनीष सिंह

समाजवादी युवजन सभा के राष्ट्रीय महासचिव मनीष सिंह ने एक विज्ञप्ति के माध्यम से कहा की मैं व्यक्तिगत तौर पर सभी धर्मों के धर्मगुरुओं से विनम्र आग्रह करना चाहता हूँ की देश में न्यायपालिका के रहते सभी फ़ैसले लोकतांत्रिक तरीक़े से न्यायालय द्वारा सुलझाए जाएँगे फिर आप राजनैतिक तौर पर क्यों बँटते है।क्यों किसी राजनैतिक दल का पक्ष लेते है या समर्थन करते है।आप समाज के आदर्श है और यह सम्मान आपको त्याग के बाद मिला है।आप सभी का जीवन वनवासी होता है।त्यागी जीवन होने के वाँवज़ूद कुछ राजनैतिक दल आपको अपना आइना बना कर सामने खड़ा कर देते है।जो कि ना तो देश के लिए ठीक है और ना ही समाज के लिए।आदरणीय श्री अखिलेश यादव जी ने मेट्रो,एक्सप्रेसवे, स्टेडियम,सैकड़ों बिजली घर,शमशान,क़ब्रिस्तान,लोहिया आवास,जनेश्वर मिश्रा पार्क,जनेश्वर गाँव,लैपटाप,कन्या विद्याधन,किसान दुर्घटना बीमा,व्यापारी दुर्घटना बीमा, मेडिकल कालेज,ज़िला हॉस्पिटल जैसे सैकड़ों कार्य नवसृजन कर राज्यसरकार के संसाधन से संचालित किए।108,1090,डायल100, जैसी योजनाओं को तो दुनिया ने सराहा।एक विकसित राज्य के रूप में यूपी की पहचान बनी वही लाखों युवाओं को रोज़गार मिला।जो उत्तर प्रदेश के इतिहास में एक मिशाल है।इतना कुछ करने के बाद सरकार चली गई क्यों की हमारे नेता के सच्चाई पर भारत सरकार का झूठ भारी पड़ गया।आप सभी धर्म गुरु तो यही चाहते है ना की जो सरकार हो अवाम के लिए काम करे ।सभी का विकास करे।सभी का जीवन ऊपर उठे और देश के नौवजवान अपने पैरों पर खड़े हो फिर आपने हम सबके अखिलेश भैया का साथ और सहयोग आप लोगों ने क्यों नहीं दिया।आप बताइए की कभी ऐसा अवसर आया है क्या की कभी कोई धर्म गुरु या समाज सुधारक अपने आपको श्री अखिलेश यादव जी की बाणी से या कर्तव्य से अपमानित हुआ हो या तकलीफ़ महसूस हुई हो।ढोंगीयो की सरकार में एक संत गंगा माँ सफ़ाई और ठीक रखरखाव के लिए लड़ते लड़ते प्राण गँवा दिए और यह संत सरकार मूकदर्शक बन कर देख रही है।आप सभी से एक युवा समाजवादी का आग्रह है की जो सरकार बिना भेद भाव के जनता को बिना बाँटे सबका विकास करे आप लोग उसका साथ दीजिए।आपकी आदर्शवादिता पर कभी कोई सवाल नहीं खड़ा करेगा।श्री अखिलेश यादव जी सबका सम्मान करते है और सबको साथ लेकर चलते है।हम सभी लोग भावुक है अपनो से कभी सियासत नहीं करते। जिसके नाम के साथ माँ जुड़ गया चाहे गंगा माँ,गाय माँ,धरती माँ,दुर्गा माँ या जन्म देने वाली माँ यह सभी हमारे आस्था का विषय है ना की सियासत का।हमारे लिए सभी धर्मों के लोग सम्माननीय है और सभी का सम्मान करना हमारी वैचारिक नीति में है।

हम सभी यह मानते है की मंदिर+मस्जिद+गिरजाघर+गुरुद्वार
सभी का सम्मान करना हर एक समाजवादियो के ख़ून में है।हम अपने नेता श्री अखिलेश यादव जी के बताए रास्ते पर चलते हुए सभी का सम्मान करेंगे और सबके विकास के लिए दिन रात मेहनत करेंगे।