डाकिए के हाथ में स्मार्ट फोन है और बैग में एक डिजिटल डिवाइस- पीएम मो दी

2018 BREAKING NEWS COUNTRY POLITICS STATE

डाकिए के हाथ में स्मार्ट फोन है और बैग में एक डिजिटल डिवाइस- पीएम मो दी

समस्तीपुर: जिले में आज इण्डियन पोस्ट पेमेंट बैंक का उदघाटन सामस्तीपुर लोक सभा संसद श्री राम चंद्रा पासवान, जिला अधिकारी चंद्रशेखर सिंह, पोस्टमास्टर जनरल पूर्वी क्षेत्र बिहार पटना के अनिल कुमार,  जिला परिषद् अध्यक्ष श्रीमती प्रेम लता को डाकघर पदाधिकारी फूलो का गुलदस्ता देकर सम्मानित किया। वहीँ दिप प्रज्वलित कर इंडियन पोस्ट पेमेंट बैंक का उदघाटन किया। वहीँ देश में डाकिया डाक लाया के साथ-साथ डाकिया बैंक लाया के रूप में जाना जायेगा। भारतीय डाक विभाग के पास डेढ़ लाख डाकघर हैं।

3 लाख से अधिक पोस्टमैन देश के जन-जन से जुड़े हैं इतने व्यापक नेटवर्क को टेक्नॉलॉजी से जोड़कर 21वीं सदी में सेवा का सबसे शक्तिशाली सिस्टम बनाने का बीड़ा हमने उठाया है लेटर की जगह अब भले ई-मेल ने ले ली हो, लेकिन लक्ष्य एक ही है। जिस टेक्नोलॉजी ने पोस्ट ऑफिस को चुनौती दी, उसी टेक्नोलॉजी को आधार बनाकर हम इस चुनौती को अवसर में बदलने की तरफ आगे बढ़ रहे हैं. डाकिए के हाथ में स्मार्टफोन और बैग में एक डिजिटल डिवाइस है जो बैंकिंग सुविधाएं पहुंचाने के साथ-साथ डिजिटल सेवाएं मुहैया कराएगा। वरना चार-पाँच साल पहले तक तो ऐसी स्थिति बना दी गई थी कि बैंकों का अधिकांश पैसा सिर्फ उन्हीं अमीर लोगों के लिए रिजर्व रख दिया गया था, जो एक परिवार विशेष के करीबी थे।

IPPB किसानों के लिए भी एक बड़ी सुविधा सिद्ध होगा। प्रधानमंत्री फसल बीमा जैसी योजनाओं को इससे विशेष बल मिलेगा। पोस्ट पेमेंट बैंक के बाद अब योजनाओं की क्लेम राशि भी घर बैठे ही मिला करेगी। आजादी के बाद से लेकर साल 2008 तक, देश के बैंकों ने 18 लाख करोड़ रुपए की राशि ही लोन के तौर पर दी थी। लेकिन 2008 के बाद के 6 वर्षों में ये राशि बढ़कर 52 लाख करोड़ रुपए हो गई। यानि जितना लोन बैंकों ने आजादी के बाद दिया था, उसका दोगुना लोन पिछली सरकार के 6 साल में बांट दिया। मौके पर लोक जनशक्ति पार्टी केे प्रदेश अध्यक्ष रंजीत कुमार यादव, गौरी शंकर यादव, हरी पासवान,  अमित कुमार यादव एवं सभी जिला के लोजपा पदाधिकारी उपस्थित थे।

रिपोर्ट : अमित कुमार यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *