आजादी के 72 वी वर्षगांठ के पावन दिन पर स्वतंत्रता सेनानी बाबू उपेंद्र नारायण सिंह का निधन

2018 BREAKING NEWS COUNTRY STATE

स्वतंत्रता सेनानी बाबू उपेंद्र नारायण सिंह का आज उनके पैतृक गांव में निधन

समस्तीपुर! जिले के वारिसनगर प्रखंड के हाँसा गांव के एक मात्र बचे स्वतंत्रता सेनानी बाबू उपेंद्र नारायण सिंह का आज उनके पैतृक गांव में निधन हो गया। वहीँ आज एक तरफ जहां पूरा देश आजादी का 72 वाँ जश्न मना रहा है। वहीँ वीर सपूतों की कुर्बानी को याद कर उन्हें नमन किया जा रहा है। वहीँ स्वतंत्रता सेनानी के निधन पर जिला प्रशासन की अनदेखी से लोगों में नाराजगी देखी गई है। वहीँ लगभग 96 वर्ष से ऊपर के थे स्वतंत्रता सेनानी उपेंद्र नारायण सिंह, उन्हें लंबे समय से बीमार चल रहे थे ।

स्वतंत्रता दिवस के इस पावन मौके पर इस स्वतंत्रता सेनानी के निधन से जहां पूरा गांव और प्रखंड के लोग गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। वहीँ उपेंद्र बाबू के परिजनों और ग्रामीणों का बताना है कि देश की आजादी के लिए उन्होंने अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया था, 1942 के असहयोग आंदोलन से लेकर जे पी आंदोलन तक में सक्रिय भूमिका निभाई और इसको लेकर वह कई बार जेल भी गए थे। स्वतंत्रता सेनानी के निधन की खबर मिलते ही वारिसनगर प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी,  अंचल अधिकारी और थानाध्यक्ष  मौके पर पहुंच कर स्वतंत्रता  सेनानी को नमन किया, और उन्हें  सलामी दी गई। वहीँ ग्रामीणों का कहना है जिला मुख्यालय से पांच किलोमीटर की दूरी पर स्थित स्वतंत्रता सेनानी के आवास पर डीएम, एसपी या कोई जिले के वरीय अधिकारी नही पहुँचे।अधिकारी स्वतन्त्रता दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम को ही अहमियत देना ज्यादा मुनासिब समझा।

जिसने देश की आजादी के लिए अपना जीवन समर्पित करने वाले ऐसे वीर सपूतों के निधन पर जिला प्रशासन की अनदेखी से स्थानीय लोगों में क्षोभ देखा गया है। वहीँ लोगों का कहना है कि आज जिस आजादी को लेकर हम जश्न मना रहे हैं, उनकी कुर्बानियों को याद कर रहे हैं, ऐसे में जिला प्रशासन की अनदेखी ऐसे स्वतंत्रता सेनानियों के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है।

रिपोर्ट :अमित कुमार यादव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *