भासपा राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने बी.जे.पी पर साधा निशाना

2018 BREAKING NEWS COUNTRY POLITICS STATE

भासपा राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने बी.जे.पी पर साधा निशाना

योगी सरकार के मंत्री और भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने भारतीय जनता पार्टी BJP के बलिया विधायक सुरेंद्र सिंह पर आज का निशाना साधा। सुरेंद्र सिंह की तरफ से एक दिन पहले हिंदुत्व बचाने को लेकर ज्यादा बच्चे पैदा किए जाने के बयान पर चुटकी लेते हुए ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि पहले सुरेंद्र सिंह खुद 5 बच्चे को पैदा करके दिखाएं। कैबिनेट मंत्री ने योगी सरकार द्वारा अपनी अनदेखी करने का आरोप भी लगाया।दरअसल ओमप्रकाश राजभर आज वाराणसी में एक पुराने मामले में कोर्ट में पेश होने पहुंचे हैं उन्होंने बताया कि मायावती सरकार मैं चौबेपुर स्थित एक बस्ती में अतिक्रमण हटाए जाने के नाम पर लोगों के घर उजाड़ दिए गए थे। भीषण ठंड में लोगों को खुले आसमान के नीचे रहना पड़ रहा था। इनको व्यवस्थित किए जाने की मांग को लेकर हमने जिला मुख्यालय पर उस वक्त प्रदर्शन किया था। परन्तु उस दौरान हमारे ही समाज के दो बहुजन समाजवादी पार्टी के नेताओं ने सर्किट हाउस में बैठकर बाहर लाठीचार्ज करवाया और मेरे छोटे बेटे का हाथ भी टूट गया था। कई लोगों की गिरफ्तारी हुई थी जिसमे मुझे लेकर नौ लोगों पर मुकदमा चल रहा है। उस वक्त पुलिस ने आरोप लगाया था कि हम लोगों ने मारपीट की थी जबकि सरकार के इशारे पर हम लोगों के साथ एकतरफा कार्यवाही कराई गई थी। उस वक्त जमानत को लेकर 19 बिंदु हम लोगों के लिए दिया गया जिस पर से एक भी आरोप सही नहीं था। उसी प्रकरण को लेकर आज हम लोग कोर्ट में पेश होने आए हुए हैं। ओमप्रकाश राजभर ने इस दौरान खुद पर से अब तक मुकदमा वापस ना लिए जाने पर योगी सरकार पर बड़ा निशाना साधा है। ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि योगी आदित्यनाथ ने खुद कहा था कि नेताओं पर से राजनीतिक मुकदमे वापस होंगे जिसे लेकर मैं कई बार मुख्यमंत्री जी से मिला , अमित शाह से लेकर योगी आदित्यनाथ समेत कई लोगों को मैंने मुकदमा वापसी के संदर्भ में पत्र भी लिखा लेकिन मेरी कोई सुनवाई नहीं हुई जबकि भारतीय जनता पार्टी के नेताओं पर संगीन धाराओं में दर्ज मुकदमे वापस ले लिए गए हैं और भारतीय समाज पार्टी के साथ एकतरफा कार्रवाई की जा रही है जो दुखद घटना है।

हम बीजेपी के सहयोगी दल हैं हम अपने दल के नेताओं पर दर्ज मुकदमों को वापस करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं और bjp नेताओं के मुकदमे वापस हो जा रहे हैं। कहीं ना कहीं भेदभाव दिख रहा है। उन्होंने कह कि इस संदर्भ में मैं फिर से योगी आदित्यनाथ से बातचीत करूंगा। ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि हम गरीबों के नेता हैं , लाचारों के नेता हैं और 22 तारीख की घटना बलिया में दो पक्षों का विवाद था , जिसमें दोनों पक्ष थाने गए थे। बीजेपी के पक्ष के लोगों का सुबह ही मेडिकल करा दिया गया जबकि भारतीय समाज पार्टी के लोगों के साथ भेदभाव हुआ और पुलिस ने उनकी एक नहीं सुनी। इनको 12:00 बजे तक थाने में बैठाए रखा गया यहाँ तक कि उनका इलाज भी नहीं हुआ , इतना ही नहीं पुलिस ने गुप्ता को गाली भी  दी।12:00 बजे के बाद प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर ले जाने पर डॉक्टर ने कहा कि इनको जल्दी अस्पताल ले जाया जाए नहीं तो इनमे से कुछ लोगो की मृत्यु भी हो सकती हैं। इसी बात पर वहां से डॉक्टर ने इनको रेफर कर दिया। इसको लेकर मुझे जानकारी हुई मैं रसड़ा में था मुझे पता चलने पर मैंने अशोक को फोन किया लेकिन उन्होंने एक नहीं सुनी मेरे पी ए  ने बार-बार कोतवाल को फोन किया लेकिन वह नहीं है उन्होंने गाड़ी ना होने का बहाना बनाया तो मैंने कहा कि वह लोग बड़े लोग हो गए हैं। यह लोग किसी की बात नहीं  सुनेंगे चलो हम लोग एक फरियादी बन कर चलते हैं। तब मैं थाने एप्लीकेशन लेकर पहुंचा। वहां मुझे कुर्सी पर बैठने को कहा गया लेकिन मैंने कहा कि नहीं , हम फरियादी बनकर आए हैं आप कुर्सी पर बैठिये। जिस पर कोतवाल ने कहा कि मुझे तो जानकारी ही नहीं है कि मामला क्या है , जो अपने आप में आश्चर्य की बात है। अस्पताल भेजे जा रहे हैं लोगो का मेडिकल हो रहा है और कोतवाल कह रहा है कि हमें जानकारी ही नहीं है।

ओमप्रकाश राजभर ने अपनी ही सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि हम भारतीय समाज पार्टी के लोग हैं।15 महीने का वक्त बीत चुका है एक भी काम हमने अब तक सिंगल नहीं कराया है। हम छोटे-छोटे कामों पर ही ध्यान देते हैं, ना हम ठेका मांगते हैं , ना ही हम बालू का पट्टा मांगते हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ छोटे छोटे लोगों के झगड़ों को निपटाने का , राशन कार्ड दवाई की व्यवस्था कराना, शिक्षा की व्यवस्था कराने को लेकर ही संघर्ष कर रहे हैं। वही ओमप्रकाश राजभर ने 29 जुलाई को मिर्जापुर बनारस बॉर्डर पर महादलित रैली किए जाने के संदर्भ में कहा कि मैं भले सरकार में हूं लेकिन मेरा पहला कर्तव्य मेरी पार्टी के प्रति है। मैं भारतीय समाज पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष हूं इसलिए ही मैं BJP में मंत्री हूं। मेरे से किसानों ने अपनी समस्याओं के बारे में बताया था ,उन्होंने मंत्री की हैसियत से नहीं मुझे पार्टी की हैसियत से इस रैली को करने के लिए आमंत्रित किया। इसलिए मैं वहां पार्टी की हैसियत से रैली कर रहा हूं। ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि जो लोग रो रहे हैं उनका आंसू पूछने वाला तो कोई ना कोई होगा , जो बीमार है उसका इलाज जरूरी है ,राजभर ने कहा कि किसानों की समस्याएं देखते तो सब लोग हैं , ठेका तो कई पार्टियों ने लिया है, और किसानों की बात भी सब करते हैं , नारा भी लगाया जाता है। जो किसानों की बात करेगा , वह दिल्ली में राज करेगा। जो भारतीय समाज पार्टी का और किसान का काम करेगा वह दिल्ली में राज करेगा |
रिपोर्ट : अनुज मौर्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *