रेप पीड़ित मुस्लिम परिवार ने ली मंदिर में शरण

2018 BREAKING NEWS CRIME

रेप पीड़ित मुस्लिम परिवार ने ली मंदिर में शरण

बलात्कार और महिला शोषण में नियंत्रण के लिए सरकार लाख दावे करे लेकिन किशोरियां न घर मे सुरक्षित हैं और न दहलीज के बाहर और पुलिस अक्सर बलात्कार के आरोपियो के पक्ष में खडी नजर आती है और ऐसे मामलों को दबाने की हर सम्भव कोशिश करती है। ऐसा ही एक मामला जिले के एक गांव के एक ईट भट्ठे का है जिसमेें एक भट्ठा मजदूर की नाबालिग बेटी को पांच लोगों ने उठा लिया था और बहन को उठाकर ले जाने का विरोध करने पर उसके छोटे भाई को पीटकर उसकी गले की हड्डी तोड़ दी थी।  वही अगवा करने वाले दबंगों में से एक ने किशोरी को अपने घर मे ले जाकर रेप की घटना को अंजाम दे डाला। फिलहाल पुलिस की बेरूखी और दबंग आरोपियों से भयभीत मुस्लिम परिवार एक मंदिर में शरण लिये हुए है।
दरसल मामला ललौली थाना क्षेत्र के एक गांव का है।  भट्ठे में मजदूरी कर रहे एक मुस्लिम परिवार की 14 साल की बेटी को भट्ठे के ठेकेदार का बेटा अपने चार साथियों के साथ रात के साथ उस समय  झोपड़ी से उठा ले गया जब वह सो रही थी। पीड़िता की माने तो अपने घर ले जाकर ठेकेदार पुत्र ने उसके साथ बलात्कार किया। इधर बेटी के गायब होते ही परिवार मे हड़कम्प मच गया और जब पता चला चला तो भट्ठा मालिक ने ठेकेदार पर दबाव बनाकर किसी तरह बेटी को वापस कराया।
 
बेटी द्वारा जब अपने साथ हुये बलात्कार की बात बतायी तो परिजन उसे लेकर थाने गये और तहरीर देकर कार्यवाही की मांग की। पीड़िता के पिता की माने तो पुलिस ने सादे कागज पर दस्तखत करा लिये और थाने से भगा दिया।  पीड़ित परिवार को पुलिस तक जाने और कार्यवाही कराने के प्रयास के चलते दबंगों ने अब गांव में रहना दूभर कर दिया है और मजबूरन दहशतजदा परिवार शहर के एक मंदिर में शरण लिये हुए है। जहाँ इस मामले में जहां पुलिस की बेरूखी निराश करने वाली है वहीं पुजारी द्वारा मुस्लिम परिवार को शरण देकर उसकी सुरक्षा और खानपान की सुविधा देना समाज में इन्सानियत का संदेश देने वाली है। और मामले में पुलिस अधीक्षक राहुल राज का कहना है कि मामला मजदूरी के भुगतान को लेकर विवाद का है फिर भी मामले की जांच करायी जाएगी ।
see video

रिपोर्ट : जितेन्द्र विश्वकर्मा 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *