पंचायतो ने सुनाया फरमान, शराब व जुवे पर जुर्माना

2018 STATE

पंचायतो ने सुनाया फरमान, शराब व जुवे पर जुर्माना 

अलीगढ़ के थाना छर्रा क्षेत्र के ग्राम बाईंखुर्द में ग्रामीणों ने शराब, जुआ, सट्टा जैसी सामाजिक बुराइयों के खिलाफ बड़ी पहल की है। पंचायत ने  यह  फैसला लिया है कि गांव में किसी ने शराब पी या जुआ खेला तो दस हजार रुपये जुर्माना देना होगा। सट्टा लगाने या अतिक्रमण करने वालों को भी दंडित किया जाएगा वही  सामाजिक बहिष्कार भी होगा। ग्राम प्रधान के नेतृत्व में ग्रामीणों ने थाना छर्रा में प्रार्थना पत्र देकर पंचायत के फैसले की जानकारी  दी है। पुलिस ने ग्रामीणों की पहल को सराहा है। इतना ही नहीं यही सारे स्लोगन थाने के सामने दिवार पर भी लिखे गए हैं।
दरअसल आपको बतादें नवयुवकों में शराब और जुए जैसी गलत आदतों से आये दिन ग्रामीणों और परिवारीजनों को शर्मिंदा होना पड़ता है, जिसके चलते अलीगढ़ की विधानसभा और थाना छर्रा इलाके के गाँव बाईखुर्द में देवदत्त के घेर में हुई पंचायत में ग्रामीणों ने कहा कि शराब, जुआ, सट्टा व अतिक्रमण समाज को दूषित करते हैं। ग्राम प्रधान पति प्रमोद कुमार ने बताया कि पंचायत में सभी ने एकराय होकर इन सामाजिक बुराइयों के खिलाफ लड़ने की शपथ ली। फैसला लिया कि गांव में कोई जुआ,सट्टा खेलता है, शराब पीता या अतिक्रमण करता पाया जाता है तो उस पर 10 हजार रुपये जुर्माना लगाया जाएगा। सामाजिक बहिष्कार भी किया जाएगा। ग्रामीणों ने भ्रष्टाचार व भ्रष्टाचारी को बर्दाश्त न करने व शांति से रहने की भी बात कही। पंचायत में ग्राम प्रधान विमलेश देवी, प्रधानपति प्रमोद कुमार, जिलापंचायत सदस्य पति भरत सिंह राजपूत समेत दर्जनों ग्रामीण मौजूद रहे।
गांव के लोगों की इस पहल की पुलिस ने भी सराहना की है। कि ग्रामीणों का यह कार्य बहुत ही सराहनीय व अद्भुत है। यह सामाजिक चेतना का युग है वहां के ग्राम प्रधान ने पहल की है कि देसी शराब बनाने की शिकायत थी ग्राम प्रधान ने पूरी पंचायत की,,,, जिसमें जुआ, शराब, सट्टा का प्रयोग गांव में करता हुआ पाया जाएगा तो उसके खिलाफ ग्राम समाज 10 हजार रूपये का अर्थदंड देगा, जिसके लिए ग्राम प्रधान और पंचायत द्वारा पुलिस से सहयोग भी मांगा गया है जिसके लिए पुलिस उनकी मदद करने को तैयार है। क्योंकि इस तरह से अगर कोई भी ग्राम समाज या अन्य संस्था आगे आकर इन्हें रोकेंगे तो इसमें जहां भी पुलिस का सहयोग चाहिए वहां पुलिस सहयोग देने को तैयार है क्योंकि बिना किसी समाज या संस्थाओं के सहयोग के बिना शत-प्रतिशत अनुपालन होना संभव नहीं हो पाता है, यह बहुत ही अच्छी पहल है जिसके लिए ग्राम प्रधान और पंचायत बधाई के पात्र हैं, पुलिस से जो भी उपेक्षा की गई हैं उनको पुलिस सौ प्रतिशत सहायता देगी, ग्रामीणों द्वारा यह भी बताया गया है कि उनके गांव में अवैध तरीके से शराब भी बनती है जिसको ग्राम प्रधान और पंचायत के लोग सर्च कर उनके खिलाफ कार्रवाई करने की बात कह रहे हैं इसमें पुलिस पूरी तरह से सहयोग करने को तैयार है। इतना ही नहीं थाने के सामने वाली दीवार पर भी वही स्लोगन लिखे गए हैं, जो की ग्रामीणों ने अपनी इस पंचायत में मुद्दे बनाये हैं , आपको बता दें कि जिस गांव में यह पंचायत हुई है यहां दर्जनों घर ऐसे हैं जहां शराब खींची (बनाई) जाती है जिससे गांव के नाबालिक नवयुवक शिकार हो रहे हैं |
रिपोर्ट : अर्जुन देव वार्ष्णेय 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *