हत्यारे जीएसटी के विरोध में आत्महत्या, बनारस में विरोध

varanasi देश राजनीती

 

वाराणसी : जिला कांग्रेस सेवादल वाराणसी के बैनर तले देहरादून के व्यापारी प्रकाश पांडे ने नोटबंदी एंव G.S.T के खिलाफ जहर खा कर आत्महत्या कर लिया था जिसके विरोध में सैकड़ों व्यापारियों ने कैन्डील मार्च एंव श्र्धांजली सभा भारत माता मंदिर में आयोजित किया गया। कैन्डील मार्च का नेतृत्व कर रहे जिला कांग्रेस सेवादल वाराणसी के जिलाध्यक्ष हरीश मिश्रा ने बताया कि इस देश में तानाशाह मोदी सरकार ने बिना सोचे समझे पहले तुगलकी फरमान नोटबंदी किया फिर व्यापारियों को आत्महत्या करने के लिए मजबूर करने वाला काला कानून G.S.T लागू कर देश के अर्थतंत्र को बर्बाद करने का कसम खाई एक तरफ जहां मोदी सरकार के दलाल नोटबंदी और G.S.T को देशहित में बता कर देश गुमराह कर रही है तो वही देहरादून के व्यापारी प्रकाश पांडे का भाजपा सरकार के सामने ही जहर खा कर आत्महत्या करना ये साबित करता है कि मोदी के तुगलकी फरमान से व्यापारी,किसान, मजदूर, बुनकर, और नौजवान को सिर्फ मौत के घाट उतारने की तैयारी की जा रही है। हम कांग्रेसजन इस तानाशाही के खिलाफ अपना संघर्ष जारी रखेंगे ताकि देश को जबरिया कानून से बचाया जा सके। मार्च में व्यापारियों ने “G,S,T काउंसिल मुर्दाबाद, भाजपा मुर्दाबाद, प्रकाश पांडे को न्याय दो,हत्यारा G,S,T वापस लो, मोदी सरकार होश में आओ के जोरदार नारे लगा कर अपना गुस्सा जाहिर किया। मार्च में शैलेंद्र सिंह, हरीश मिश्रा, प्रिंस राय खगोलन, कुंवर विश्वनाथ, रोशन कुमार,हाजी अनवर चौधरी, रंजीत सेठ, शाकिर अली नबाब, विजय उपाध्याय, आशीष केसरी, पवन यादव, सुरज यादव, देवी प्रसाद यादव, धन्वंतरि दि्वेदी, रविंद्र वर्मा, अमित सिंह, राजकुमार मिश्रा, इस्तखार अली, कलीम, बाल्मीकि उपाध्याय, विक्की कनौजिया,अजीत यादव सहित सैकड़ों लोग शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *